वाजपेयी के चुनावी सभा के बाद सुर्खियो में आया जमुआ, पीएम मोदी की चुनावी रैली 29 को

गिरिड़ीह। गिरिडीह के जमुआ में 29 अप्रैल को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की चुनावी रैली होने जा रही है। इन दिनों पीएम मोदी की रैली को लेकर जमुआ अंचल सुर्खियों में है। लेकिन गिरिडीह जिले का जमुआ प्रखण्ड सुर्खियों1980 में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की चुनावी सभा हुई थी । सन 1980 में बिहार विधानसभा के चुनाव का मौसम था। गिरिडीह सदर सीट से कांग्रेस उम्मीदवार रणधीर प्रसाद चुनाव लड़ रहे थे। चुनाव प्रचार के क्रम में सड़क हादसे में रणधीर प्रसाद की असमायिक मौत के बाद गिरिडीह सदर का चुनाव स्थगित हुआ था । लेकिन वाजपेयी जी का दौरा पहले से गिरिडीह में प्रस्तावित थी। वाजपेयी जी तय समय पर गिरिडीह आये और कोडरमा के तत्कालीन सांसद स्व रीतलाल वर्मा के पैतृक गांव भंडारो के लिए रवाना हो गये। रास्ते में जमुआ चौक पर भाजपा समर्थकों ने वाजपेयी जी के काफिले को जमुआ चौक पर रोक कर स्वागत किया और आग्रह किया कि यही एक जनसभा हो जाय। लोग वाजपेयी जी सुनना चाहते थे। लिहाजा सरल स्वभाव के स्वामी वाजपेयी जी ने भी लोगों की भावनाओं का आदर किया । आनन फानन में एक मिठाई दुकान से चौकी लाकर मंच बनाकर माइक लगाया गया । वाजपेयी जी को सुनने के लिए लोगों की भीड़ जुट गयी। डाकबगलां के समीप जनसभा हुई। जनसभा के बाद वाजपेयी जी का काफिला भड़ारो के लिए चला गया। इधर जनसभा की न्यूज को एक न्यूज एजेसीं ने दूसरे दिन जमुआ डेट लाइन से जारी किया। जिसे देश भर के हिन्दी, उर्दू, बांगला ,और अंग्रेजी अखबारों ने छापा। कहते हैं कि जमुआ डेट लाइन से वाजपेयी जी की जनसभा की खबर छपने के बाद कांग्रेस आलाकमान ने भी जमुआ में ही पूर्व पधानमंत्री इंदिरा गांधी की बड़ी चुनावी जनसभा की थी।
अब एक बार फिर भाजपा के तारणहार प्रधानमंत्री मोदी की रैली होने जा रही है। पीएम की रेली को लेकर एनडीए खेमे में भारी उत्साह है। भाजपा रैली को एतिहासिक बनाने में जुटी है।

This post has already been read 7602 times!

Sharing this

Related posts