वेतनभोगी कर्मचारियों को तोहफा, ईपीएफ पर ब्याज दर बढ़ी

नई दिल्ली। वेतनभोगी कर्मचारियों के लिए एक खुशखबरी है। कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ने वर्ष 2018-19 में कर्मचारियों के लिए ब्याज दर में बढ़ोतरी कर दी है। संगठन ने वर्ष 2018-19 में कर्मचारियों के लिए ब्याज दर को 8.55 प्रतिशत से बढ़ाकर 8.65 प्रतिशत कर दिया है। इससे देश के 6 करोड़ वेतनभोगी कर्मचारियों को लाभ मिलेगा।
इस वित्तीय वर्ष के लिए ब्याज दर घोषित करने का प्रस्ताव गुरुवार को कर्मचारी भविष्य निधि संगठन की न्यासी बैठक में लिया गया है।
श्रम मंत्री की अध्यक्षता वाला केंद्रीय न्यासी बोर्ड(सीबीटी) ईपीएफओ का सर्वोच्च निर्णय लेने वाला निकाय है। वह वित्तीय वर्ष के लिए पीएफ जमा पर ब्याज दर को अंतिम रूप देता है। सीबीटी द्वारा अनुमोदित किए जाने के बाद, प्रस्ताव को वित्त मंत्रालय की सहमति की आवश्यकता होती है। ब्याज दर को वित्त मंत्रालय की मंजूरी के बाद ग्राहकों के खाते में जमा किया जाता है।
ईपीएफओ ने 2017-18 के लिए अपने ग्राहकों को पिछले साल 8.55 प्रतिशत की पांच साल की सबसे कम ब्याज दर दी थी। निकाय ने 2016-17 में ब्याज दर 8.65 प्रतिशत और 2015-16 में 8.8 प्रतिशत रखी थी। 2013-14 और 2014-15 के लिए 8.75 प्रतिशत ब्याज दिया था। 2012-13 में ब्याज दर 8.5 प्रतिशत थी।

 

This post has already been read 13531 times!

Sharing this

Related posts