भारत और रूस के बीच होंगे 10 द्विपक्षीय समझौते

मॉस्को : रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन और भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बीच हुई बातचीत के बाद भारत और रूस के बीच विभिन्न क्षेत्रों में 10 द्वीपक्षीय समझौते होंगे। रूस के राष्ट्रपति के सहायक यूरी यूशाकोव ने यह जानकारी दी है।

इसे भी देखे : दुनिया पर ओमीक्रोन का ‘बहुत गंभीर’ खतरा : डब्ल्यूएचओ

यूरी यूशाकोव ने बताया कि लगभग 10 समझौतों पर हस्ताक्षर किए जाएंगे। इनमें कुछ बहुत महत्वपूर्ण समझौते हैं। इन पर काम किया जा रहा है और हमें विश्वास है कि इस दौरे में कई अन्य समझौतों पर भी हस्ताक्षर किए जाएंगे।

इसे भी देखे : दुनिया के चिंता का कारण बना कोरोना वायरस का नया संस्करण ‘ओमीक्रॉन’

यूशाकोव ने इन समझौतों के नाम बताने से मना कर दिया लेकिन उन्होंने कहा कि ये द्विपक्षीय संबंधों के लिहाज से कई क्षेत्रों में महत्वपूर्ण हैं। उल्लेखनीय है कि राष्ट्रपति पुतिन 6 दिसंबर को भारत-रूस सम्मेलन के लिए वार्षिक भारत की यात्रा करेंगे। साल 2019 में ब्राजीलिया में आयोजित ब्रिक्स सम्मेलन के बाद यह दोनों देशों के नेताओं के बीच पहली मुलाकात होगी। इधर, नई दिल्ली में विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने बताया है कि भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और रूस के राष्ट्रपति पुतिन के बीच बैठक के अलावा दोनों देशों के रक्षा और विदेश मामलों के मंत्रियों के बीच भी 6 दिसंबर को नई दिल्ली में बैठक होगी।

This post has already been read 43570 times!

Related posts