राष्ट्रपति पर टिप्पणी के लिए मांफी मांगे गहलोत : भाजपा

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) ने राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से राष्ट्रपति पद की गरिमा को ठेस पहुंचाने के लिए माफी मांगने की मांग की है। भाजपा ने अशोक गहलोत के उस बयान की कड़ी निंदा की है जिसमें उन्होंने भाजपा पर जातीय समीकरण को साधने के लिए पार्टी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी को छोड़ रामनाथ कोविंद को राष्ट्रपति बनाए जाने की बात कही थी। भाजपा प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हन राव ने मंगलवार को पत्रकार वार्ता में कहा कि कांग्रेस नेता को इस बयान पर माफी मांगनी चाहिए। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने संवैधानिक पद का अपमान किया है। राव ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस का संवैधानिक पद की गरिमा को ठेस पहुंचाने की पुरानी संस्कृति रही है। कांग्रेस पार्टी ने बहुत ही निचले स्तर पर जाकर चुनावी मर्यादा का उल्लंघन किया है। राव ने कहा कि भारत के राष्ट्रपति, जो देश में सर्वोच्च पद है, उन पर भी कांग्रेस ने राजनीति करने की कोशिश की है। उन्होंने कहा कि ऐसे में चुनाव आयोग को भी गहलोत पर कड़ी कर्रवाई करना चाहिए।

This post has already been read 2055 times!

Sharing this

Related posts