फेसबुक की फेस रिकग्निशन सिस्टम होने वाला है बंद…

नई दिल्ली। फेसबुक की पैरेंट कंपनी मेटा ने कहा कि फेसबुक अब फेस रिकग्निशन सिस्टम को बंद कर रहा है। कंपनी ने इसकी जानकारी दी है। फेसबुक ने कहा कि वहां एक अरब से भी ज्यादा लोगों का फेसप्रिंट डिलीट करेगा। फेसबुक ने यह कदम दुनियाभर में इस तकनीक को लेकर जाहिर की जा रही चिंता के बाद उठाया है। बता दें कि इस तकनीक में फोटो और वीडियो के जरिये लोगों को आसानी से पहचान लिया जाता है।

और पढ़ें : विटामिनों की खान है व सर्दियों में सेहत के लिए बहुत गुणकारी है खजूर…

फेसबुक की नई मूल कंपनी मेटा की आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के उपाध्यक्ष ने कहा यह परिवर्तन प्रौद्योगिकी के इतिहास में चेहरे की पहचान के उपयोग में सबसे बड़े बदलावों में से एक होगा। उन्होंने लिखा है कि हम फेसबुक पर फेस रिकग्निशन सिस्टम को बंद कर रहे हैं। जिन लोगों ने इसका चुनाव किया है, उनकी अब फोटो और वीडियो में ऑटोमेटिकली रिकॉग्नाइज नहीं किए जाएंगे और हम एक अरब से अधिक लोगों के व्यक्तिगत फेशियल रिकग्निश टेम्प्लेट को हटा देगा।

Ads

फेसबुक ने कहा है कि वर्तमान में समाज में फेस रिकग्निशन टेक्नोलॉजी को लेकर कई चिंताएं हैं। इसके उपयोग को नियंत्रित करने वाले नियम अभी तक स्पष्ट नहीं किए हैं।इस अनिश्चितता के बीच, हम मानते हैं कि रिकग्निशन टेक्नोलॉजी को इस्तेमाल के मामलों के एक नैरो सेट तक सीमित करना उचित है।

Ads

कंपनी ने कहा कि फेस रिकग्निशन सिस्टम के उपयोग को समाप्त करना इस तरह की व्यापक पहचान से दूर एक कंपनी के हित में कदम का हिस्सा है।फेसबुक ने फेशियल रिकग्निश टेम्प्लेट को हटाने का फैसला अपने उस ऐलान के बाद लिया है, जिसमें कंपनी ने अपना नाम बदलने की बात कही थी। कंपनी ने गुरुवार को कहा था कि वह अपना नाम बदलकर मेटा रख रही है।

ज्यादा ख़बरों के लिए आप हमारे फेसबुक पेज पर भी जा सकते हैं : Facebook

This post has already been read 7838 times!

Sharing this

Related posts