हवाला कारोबार को लेकर ईडी ने सिद्धा समूह से की पूछताछ

कोलकाता। हवाला कारोबार को लेकर धनशोधन की जांच कर रहे प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने अब रियल एस्टेट कंपनी सिद्धा समूह के खिलाफ जांच शुरू की है। बुधवार को समूह के एक अधिकारी साल्टलेक के सीजीओ काम्प्लेक्स स्थित ईडी के दफ्तर पहुंचे, जहां उनसे दो घंटे तक पूछताछ हुई। समूह की ओर से कई दस्तावेज जमा कराए गए हैं। इसमें आयकर रिटर्न, कई परियोजनाओं की प्रोजेक्ट रिपोर्ट और निवेश की जानकारी संबंधी कागजात शामिल हैं।
जांच एजेंसी के हवाले से बताया गया है कि मंगलवार को ही समूह के निदेशक को नोटिस भेजी गई थी और कई अहम दस्तावेज मांगे गए थे। बुधवार को समूह के एक अधिकारी ने जांच एजेंसी के दफ्तर में पहुंच कर कागजात को जमा कराया है। आरोप है कि समूह ने नोटबंदी के पहले और बाद में करोड़ों रुपये का कालाधन इमारत निर्माण परियोजनाओं में खपाया है। ईडी के अधिकारियों ने बताया कि फिलहाल समूह के निदेशक निलेश पारिख अंतरिम जमानत पर हैं।
कुछ दिन पहले कोलकाता के पार्क स्ट्रीट में आठ फॉरेन एक्सचेंज संस्थानों तथा कोलकाता के बड़ाबाजार क्षेत्र के पोस्ता थाना इलाके में दो हवाला कारोबारियों के ठिकाने पर ईडी की टीम ने छापेमारी की थी। इस छापेमारी के बाद हवाला कारोबार में सिद्धा समूह की संलिप्तता भी सामने आई थी। पता चला कि निलेश ने हवाला कारोबार के जरिए हजारों करोड़ रुपये का गबन किया है। नोटिस भेजकर इस मामले में पूछताछ की जा रही है। जांच में और भी कई कारोबारियों के नाम सामने आए थे।
उल्लेखनीय है कि गत 31 जनवरी को विभिन्न बैंकों से 2672 करोड़ रुपये का ॠण लेकर गबन करने वाले श्री गणेश ज्वेलरी के मालिक के आवास समेत 11 ठिकानों पर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की टीमों ने मैराथन छापेमारी की थी। कोलकाता के सॉल्टलेक, बालीगंज, टॉलीगंज, गरियाहाट और कालीघाट में कम से कम 11 शोरूम पर छापेमारी हुई थी। जांच एजेंसी के मुताबिक, भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) की अगुवाई में 25 बैंकों के एक कंसोर्टियम को 2,672 करोड़ रुपये का लोन नहीं चुकाने के मामले की जांच कर रही ईडी ने विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम, 1999 और धनशोधन निवारण अधिनियम, 2002 के तहत मामला दर्ज किया है। इससे पहले श्री गणेश ज्वैलरी हाउस लिमिटेड के प्रमोटर नीलेश पारिख को सीबीआई ने 2017 में दो बार पकड़ा था। इसके अलावा राजस्व खुफिया निदेशालय (डीआरआई) ने बैंकों के एक संघ को धोखा देने और 1,700 किलोग्राम सोने के डायवर्सन के लिए 2018 में गिरफ्तार किया था।

 

This post has already been read 9319 times!

Sharing this

Related posts