नावाडीह में सीपी चौधरी ने चलाया जनसंपर्क अभियान, कहा- एक अवसर दें, गढ़ूंगा विकास की नई परिभाषा

बोकारो : राज्य के जल संसाधन, पेयजल एवं स्वच्छता मंत्री व राजग समर्थित आजसू पार्टी के उम्मीदवार चंद्र प्रकाश चौधरी ने जिले के नावाडीह प्रखंड में इस कड़ी धूप में भी दर्जनों गांवों का दौरा किया और ग्रामीणों से मुलाकात कर अपने समर्थन में उनसे मतदान करने की अपील की. इस क्रम में उन्होंने कहा कि मुझे आप केवल एक अवसर दें, मैं गिरिडीह में विकास की नई परिभाषा गढ़ दूंगा. रामगढ़ में मैंने बतौर विधायक भरपूर विकास का काम किया है. ठीक उसी प्रकार सांसद के रूप में विकास करने का माद्दा है. आपके विचार व भागीदारी से तरक्की एवं विकास में उल्लेखनीय भूमिका निभाऊंगा. घर-घर के लोगों को विकास के कार्यों में भागीदार बनाया जाएगा.

झारखंड मुक्ति मोर्चा पर बरसते हुए उन्होंने कहा कि आप सब जेएमएम के इतिहास से परिचित हैं. आप सभी को यह ध्यान होगा कि इसी झारखंड मुक्ति मोर्चा ने तीन करोड़ रुपये में झारखंड आंदोलन एवं स्वाभिमान को कांग्रेस के हाथों बेच दिया और आज झूठ की बुनियाद पर बने महागठबंधन में दोनों दल एक साथ शामिल हैं. झारखंड आंदोलन को बेचने व खरीदने वाले आज साथ-साथ हैं. गिरिडीह की जनता देख रही है और यह तय कर लिया है कि महागठबंधन में शामिल दलों के साथ क्या सलूक करना है.

उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र के जो लंबे समय से विधायक हैं, वह लोकसभा का चुनाव झामुमो की ओर से लड़ रहे हैं, जिन्होंने बतौर विधायक इस क्षेत्र में कुछ नहीं किया, वे सांसद बन कर क्या करेंगे? यह सोचने व समझने की बात है. मैं इस इलाके में घूम रहा हूं तो मुझे यह असानी से दिख रहा है कि यहां के लोग हैरान व परेशान हैं. मूलभूत सुविधाओं का अभाव है. रोजगार नहीं होने की वजह से यहां के नौजवान पलायन करने को विवश हैं. समुचित चिकित्सा सुविधा नगण्य है.

आजसू पार्टी हमेशा से ही विकास के लिए प्रयासरत है. आजसू पार्टी ने सदैव लोगों का भला किया है. आज आजसू पार्टी मजबूत और नेक इरादा रखने वाले राजग के साथ खड़ा है, जिसका नेतृत्व नरेंद्र मोदी जैसे सशक्त व्यक्ति के हाथ में है. उन्होंने विश्वास जताया कि गिरिडीह लोकसभा क्षेत्र की जनता झारखंड का स्वाभिमान बेचने के साथ-साथ आत्मसम्मान को गिरवी रखने वाली झारखंड मुक्ति मोर्चा को जबरजस्त धूल चटायेगी.

भाजपा एवं आजसू पार्टी का यह संयुक्त चुनावी दौरा नावाडीह प्रखंड के चपरी, ऊपरबंधा (गुजाडीह) बिरनी सदर टोला, परसबनी, कंचनपुर, दहियारी (धमनी), न्यू दहियारी, तिलैयाटांड, बोदरो, बाराडीह, भेण्डरा, सइविया (पारटांड), सुरही, आराडीह, पोटसो (भवानी) खूंटा, अरगमो, खरपिटो, जुनोडीह, चिरूडीह, लेबोडीह, असना टांड, कटबरा एवं भलमारा आदि में किया गया. इसमें दोनों दलों के नेता व कार्यकर्ता भारी संख्या में शामिल हुए.

This post has already been read 6615 times!

Sharing this

Related posts