सीधी लड़ाई हार चुकी कांग्रेस अब छद्म लड़ाई में उतरी : भाजपा

रांची। भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने कहा कि चुनावों में कांग्रेस को मिली करारी हार के बाद कांग्रेस ने अपनी स्ट्रेटजी में बदलाव किया है। अब वह झारखंड को अशांत करने के लिए कुछ तथाकथित सामाजिक संगठनों को आगे कर रही है।
प्रतुल ने सोमवार को आरोप लगाया कि हाल में डोरंडा और मेन रोड में सांप्रदायिक तनाव भड़काने की कोशिश के पीछे कुछ कांग्रेस समर्थित सामाजिक संगठन और कांग्रेस के एक बड़े अल्पसंख्यक नेता का सीधा हाथ था। प्रतुल ने कहा कि कांग्रेस ने इन सामाजिक संगठनों को आगे करके माहौल को खराब करने की कोशिश की थी। कांग्रेस के नेताओं ने न सिर्फ भीड़ को उकसाने का कार्य किया बल्कि तोड़फोड़ भी की। डोरंडा थाने में कांड संख्या 228/19 में इन कांग्रेसी नेताओं के नाम प्राथमिकी भी दर्ज की गई है।
उन्होंने कहा कि खूंटी में पत्थलगड़ी को वीभत्स तरीके से परिभाषित कर के आंदोलन करने वाले देश तोड़क सामाजिक संगठनों को फिर से कांग्रेस आगे करना चाह रही है। एकबार फिर खूंटी में कांग्रेस ने खुद को पीछे रखते हुए इन देश विरोधी सामाजिक संगठनों को आगे कर क्षेत्र को अशांत करने की कोशिश की है। परन्तु रघुवर सरकार के कार्यकाल में इसे बर्दाश्त नहीं किया जाता है। कुछ वर्ष पूर्व जब राजधानी रांची को शांत करने की कोशिश हुई थी तब मुख्यमंत्री रघुवर दास खुद सड़कों पर उतरे थे और अल्पसंख्यक-बहुसंख्यक सभी मोहल्ले में जाकर लोगों को शांत रहने की अपील की थी। सरकार के इरादे मजबूत हैं और प्रदेश को अशांत करने वाले किसी भी व्यक्ति को नहीं छोड़ा जाएगा।

This post has already been read 6473 times!

Sharing this

Related posts