कहानी : श्यामला

-अविनाश झा- श्यामला ने आज फिर मां को काफी खरी खोटी सुनाई थी। मां ने सिर्फ इतना ही तो पूछा था! “बेटी जुग जमाना सही नहीं है। यूं देर रात तक बाहर रहना ठीक नहीं। अब नौकरी भी करने लगी हो लेकिन विवाह का नाम सुनते ही भड़क जाती हो।” ” तुम सबको तो सिर्फ शादी- शादी की रट लगी है। मेरी इच्छा जब होगी कर लूंगी। तुम अपने काम से काम रखो!” श्यामला ने लगभग चिल्लाते हुए कहा। ” बेटी हमलोग भी समाज में रहते हैं, सब हमसे पूछते…

Read More

गर्मियों की छुट्टियों में फैमिली संग जाने के लिए बेहतरीन हैं ये डेस्टिनेशन्स

गर्मी की छुट्टियां आने वाली हैं। बच्चों की जिद होती है कि ऐसी जगह घूमने चलें जहां वो एन्जॉय कर पाएं। तो वहीं पत्‍‌नी चाहती है कि डेस्टिनेशन ऐसा हो जहां समंदर के किनारे खूब मस्ती भी हो जाए और मन भर के शॉपिंग भी। आप चाहेंगे कि नेचर के करीब या किसी हेरीटेज साइट पर जाकर इतिहास से रूबरू हों या फिर जंगल के बीच चिडिय़ों की चहचहाट के बीच भोर हो। आपके परिवार का जो चाहे मत हो, हर विकल्प है आपके पास, तो फिर देर क्यों? जल्दी…

Read More

बच्चे खाने से जी चुराएं तो इन ट्रिक्स से व्यवहार में बदलाव लाएं

एक स्टडी की मानें तो बच्चों के खाने में नखरों से परेशान पैरंट्स उन पर या तो प्रेशर डालते हैं या उन्हें लालच देते हैं। ऐसा करने से बच्चे की आदतें और बिगड़ सकती हैं और वे अनहेल्दी खाने में रुचि दिखा सकते हैं जिससे उनका वजन बढ़ता है। उनकी यह आदत सुधारने के लिए आप यहां बताए टिप्स अपना सकते हैं। -बच्चे जब छोटे हों तभी से उन्हें जितने ज्यादा न्यूट्रिशनल फूड दे दें ताकि उन्हें बढ़ने में जिन जरूरी पोषक तत्वों की जरूरत हो वे मिल सकें। -अगर…

Read More

स्वस्थ शरीर में ही छिपा है सार्थक जीवन का रहस्य

-हरीश बड़थ्वाल- चिकित्सकों ने एक बीमार व्यक्ति को बार-बार सलाह दी कि जान बचानी है तो शराब को पूरी तरह छोड़ दो। वह समझ चुका था कि शराब ही उसकी बीमारी का मुख्य कारण है और इससे उसके अंदरूनी अंग नष्ट हो रहे हैं। पर वह शराब नहीं छोड़ पाया। एक दिन वह जीवन से ही हाथ धो बैठा। शंकराचार्य विरचित ‘स्तोत्ररत्नावली’ के चर्पटपंजिरिकास्तोत्रम् में मानवाचार की इस विडंबना का उल्लेख है कि अनुचित, आपत्तिजनक कार्य या व्यवहार में लिप्त व्यक्तियों को अंततः दुर्दशा में गिरते देखकर भी देखने वालों…

Read More

मौसम नहीं, आपका अंदाज रहेगा हॉट

गर्मी शुरू होते ही कई समस्याएं भी सामने आने लगती हैं। पसीना, घमौरियां और टैनिंग से बचने के लिए लड़कियां सबसे पहले अपने पहनावे में बदलाव करती हैं, लेकिन वह अपना स्टाइल जरा भी कम नहीं होने देतीं। इस बार गर्मी में फ्लोरल प्रिंट से लेकर शॉर्ट्स, कैपरी लुक पसंद किया जा रहा है। फंकी लुक के साथ ही अलग-अलग स्टाइल की कुर्ती भी लड़कियों ने अपने कलेक्शन में शामिल की हैं। इन दिनों कौन सा स्टाइल हिट है, यह जानने के लिए माधुरी सेंगर कॉलेज गर्ल्स से मिलीं। इन…

Read More

ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करता है करेला

करेले का नाम आते ही लोगों को कड़वा स्वाद याद आ जाता है लेकिन करेला हमारी सेहत के लिए बहुत लाभदायक है। करेले को हम कई तरह से दवा के रूप में इस्तेमाल कर सकते हैं। करेले में कई ऐसे गुण पाए जाते हैं, जिनसे कई बीमारियों की आशंकाओं को कम किया जा सकता है। बता दें कि ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने में करेला बहुत मदद करता है। करेले में मोमर्सिडीन और चैराटिन जैसे एंटी-हाइपर ग्लेसेमिक तत्व पाए जाते हैं। आपको बताते हैं कि कैसे करेला ब्लड शुगर…

Read More

वर्क फ्रॉम होम सुनने में तो अच्छा लगता है लेकिन यह कॅरियर के लिए घातक है

ऑफिस जाने वाले व्यक्तियों के आठ घंटे ऑफिस के होते हैं, लेकिन जब वह घर वापिस आते हैं तो अपना समय परिवार को देते हैं। वहीं जो लोग घर से काम करते हैं, वह भले ही पूरा दिन परिवार के साथ हो लेकिन फिर भी उनके साथ नहीं होते। सुबह जल्दी उठकर ऑफिस जाना हर किसी को अच्छा नहीं लगता। ऐसे बहुत से लोग हैं जो नौ से पांच की जॉब करने की बजाय घर से काम करना पसंद करते हैं। घर बैठकर ही अगर किसी की अच्छी कमाई हो…

Read More

(व्यंग्य) जय जवान जय किसान

-शशिकांत सिंह ‘शशि’- हे सैनिक वीरों! यह देश आपकी ओर आशा भरी नजरों से देख रहा है। आप देश के लिए शहीद हो जायें। शून्य से नीचे जब पारा जा रहा हो तो आप मन दो मन के कपड़े पहनकर..’यस सर….यस सर’ कहते हुये, यह मानकर अपना सीना आगे किये रहें कि एक न एक दिन या तो गोली लगेगी या मेडल मिलेगा। आप सच्चे देशभक्त हैं। आप कभी न सोचें कि आपके घर में एक जवान बहन है जिसकी शादी नहीं हुई। एक बूढ़ा बाप है जिसका आपके बाद…

Read More

कहानी : दलित की बेटी

-डॉ. विवेक गुप्ता- सूरज रोज़ की तरह अपनी रोशनी से संसार को रोशन कर रहा है. दिन चढ़ते-चढ़ते सूरज की लालिमा की ठंडक, अब चुभन में बदलने लगी है. बस्ती के लोग रोज़ की तरह अपने दैनिक कामों में व्यस्त हो चले हैं. झुग्गियों की चिमनियों से धुआं निकल कर सूखे आसमान में बादल बना रहा है. ऐसा लगता है मानो यह धुआं सूरज को चुनौती दे रहा हो कि मैं तुम्हे ढक कर तुम्हारे ताप से बस्ती को मुक्ति दिलाऊंगा. धुंए के बादल क्षणिक ही सही, पर सूरज के…

Read More

जीवन सार्थक बनाने के लिए केवल यह एक काम जरूरी

-सीताराम गुप्ता- वर्षा के जल से धुलकर स्वच्छ हो चुकी मधुकामिनी की एक सुंदर घनी झाड़ी पर छोटे-छोटे सफेद आकर्षक फूल खिले हुए थे। मैंने उस झाड़ी से एक फूल तोड़ लिया। उसमें से मंद-मंद मनमोहक महक निःसृत हो रही थी। मैंने फूल पर लगी वर्षा जल की नन्ही बूंदों को झाड़ने के लिए फूल के वृंत को अंगूठे व तर्जनी की सहायता से घुमाया तो उसकी पंखुड़ियां ही झरकर नीचे गिर गईं और उंगलियों के बीच रह गया सिर्फ वृंत। मैंने नीचे गिरी सभी पंखुड़ियों को उठाकर हथेली पर…

Read More