कर्नाटक विधायकों के इस्तीफे से भाजपा का कोई लेना-देना नहीं : राजनाथ

नई दिल्ली।  कर्नाटक में मची सियासी उठापटक के बीच सूबे की सत्ता में साझीदार कांग्रेस ने विधायकों के इस्तीफे के लिए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को सीधे तौर पर जिम्मेदार ठहराया। लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि कर्नाटक में चल रहे सियासी घटनाक्रम के लिए भाजपा जिम्मेदार है। इसके जवाब में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कर्नाटक में उत्पन्न हालात के लिए सीधे तौर पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को जिम्मेदार बताते हुए तंज कसा। उन्होंने कहा कि कि इस्तीफे की शुरुआत खुद राहुल ने की थी और कर्नाटक में जो कुछ हो रहा उससे भाजपा का कुछ लेना-देना नही है।
 सदन के उपनेता के तौर पर केन्द्रीय मंत्री राजनाथ सिंह ने कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी द्वारा कर्नाटक में गठबंधन सरकार को गिराने के आरोपों का जवाब देते हुए कहा कि कर्नाटक में उपजे घटनाक्रम से भाजपा का कोई लेना-देना नहीं है। भाजपा का इतिहास है कि वह दवाब और प्रलोभन देकर दल-बदलने की राजनीति नहीं करती है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस में आजकल हर कोई इस्तीफा दे रहा है। कांग्रेस अध्यक्ष और दिग्गज नेताओं ने भी इस्तीफा दे दिया है। उसी क्रम में अब विधायक भी इस्तीफा दे रहे हैं। इसके लिए भाजपा कैसे जिम्मेदार हो सकती है।

लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि भाजपा और केन्द्र सरकार लोकतंत्र को कमजोर करने में लगी हुई है। वह दल-बदल को सहयोग प्रदान कर रही है और चाहती है कि देश में कहीं भी विपक्ष की सरकार न रहे। राज्य के बागी विधायकों को गाड़ी, प्लेन और मुंबई में होटल की सुविधा मुहैया कराई जा रही है। चौधरी ने इस दौरान उदाहरण देते हुए कहा कि अगर उनके पास सोने और चांदी के सिक्के हैं और वह उन्हें संभाल नहीं कर पा रहे हैं इसका अर्थ यह नहीं है कि कोई चोर उन्हें ले उड़े। उन्होंने कहा कि कर्नाटक में लोकतंत्र की धजियां उड़ाई जा रही है।

उल्लेखनीय है कि कर्नाटक में कांग्रेस और जनता दल सेक्युलर की गठबंधन सरकार से हाल ही में कुछ विधायकों ने इस्तीफा दिया है। इसके चलते राज्य सरकार पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं। दूसरी ओर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हार की जिम्मेदारी लेते हुए पार्टी पदों से इस्तीफा दे रहे हैं।

This post has already been read 6315 times!

Sharing this

Related posts