रांची में साइकिल शेयरिंग सिस्टम ‘साइक्लोथान’ की शुरुआत, नगर विकास मंत्री ने दिखाई हरी झंडी

रांची । स्मार्ट सिटी मिशन के तहत पब्लिक बाइसाइकिल शेयरिंग सिस्टम का रविवार को राजधानी रांची में आगाज कर दिया गया। राजधानी के मोराबादी मैदान से नगर विकास एवं आवास विभाग के मंत्री सीपी सिंह ने साइक्लोथॉन को हरी झंडी दिखाई।
इस अवसर पर सीपी सिंह ने कहा कि देश विदेश में भ्रमण के दौरान हमने कई बड़े शहरों में ऐसी व्यवस्था देखी थी। मेरी परिकल्पना थी कि हमारे शहर रांची में भी पब्लिक बाइसाइकिल शेयरिंग सिस्टम की शुरुआत हो। थोड़ा समय जरूर लगा, लेकिन उम्मीद है इस सेवा का लोग अधिक से अधिक उपयोग करेंगे। उन्होंने कहा कि आमतौर पर अब लोग घर से सब्जी खरीदने के लिए निकलते हैं, तो गाड़ी का इस्तेमाल करते हैं। अगर हम साइकिल का इस्तेमाल करें तो हमारा स्वास्थ्य तो सही रहेगा ही पर्यावरण को भी इसका फायदा मिलेगा। प्रदूषण स्तर में भी कमी आएगी। उन्होंने राजधानीवासियों से कम दूरी के लिए साइकिल का इस्तेमाल जरूर करने का आग्रह किया। साइक्लोथॉन में 200 से ज्यादा प्रतिभागियों ने भाग लिया और लगभग पांच किलोमीटर तक साइकिल चलायी। इस मौके पर विभागीय मंत्री, सचिव, स्मार्ट सिटी के सीईओ, नगर आयुक्त, उपमहापौर और विधायक व अन्य अधिकारियों ने साइकिल की सवारी की। साइक्लोथॉन के बाद लकी ड्रा के जरिए 10 प्रतिभागियों को मेडल भी दिये गये। रांची के उपमहापौर संजीव विजयवर्गीय ने लकी ड्रा के विजेता प्रतिभागियों को सम्मानित किया। साइकिल चलाकर राजधानी के युवाओं ने खुशी का इजहार किया।
पब्लिक बाइसाइकिल शेयरिंग सिस्टम को दो फेज में बांटा गया है। प्रथम फेज के अंतर्गत रविवार से 600 साइकिल की शुरुआत हो गई है। 60 स्टेशन एक्टिव किये गए हैं और तीन मार्च से नौ मार्च तक लोग निःशुल्क साइकिल सेवा का लाभ ले सकते हैं। 10 मार्च से सेवा शुल्क के साथ इसे उपयोग किया जा सकेगा। अगर कोई भी व्यक्ति साइकिल के साथ छेड़छाड़ करने या अभी चालू रूट से इधर उधर जाकर ज्यादा देर तक साइकिल को रखने की कोशिश करेगा तो उस पर 5000 जुर्माना लगेगा। इसलिए लोगों से आग्रह भी किया गया है साइको साइकिल को लॉक करना सुनिश्चित करें। इस मौके पर विभाग के सचिव अजय कुमार सिंह, रांची के उपमहापौर संजीव विजयवर्गीय, कांके विधायक जीतू चरण राम, रांची के नगर आयुक्त मनोज कुमार, स्मार्ट सिटी के सीईओ अमित कुमार, पीआरओ अमित कुमार तथा नगर विकास विभाग के कई अधिकारी मौजूद थे।

This post has already been read 6412 times!

Sharing this

Related posts