अशोक पंडित ने आपा खोया

मुंबई। बालीवुड में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारतीय जनता पार्टी की केंद्र सरकार के प्रबल समर्थकों में से माने जाने वाले अशोक पंडित मुंबई में आयोजित एक समारोह में आपा खो बैठे और मीडियाकर्मियों पर बरस पड़े। मामला कुछ इस तरह से बताया जाता है कि समारोह में मीडिया की ओर से एक पत्रकार ने इस साल की हिट रही फिल्म उरी को प्रोपगंडा फिल्म बताकर सवाल किया, तो वहां मौजूद अशोक पंडित गुस्से में आ गए और सवाल करने वाले पत्रकार पर भड़कते हुए उसे समारोह से बाहर निकालने की मांग पर अड़ गए। अपना आपा खोते हुए अशोक पंडित ने पत्रकार के सवाल पर आपत्ति करते हुए कहा कि आजादी के बाद से देश में मॉब लिचिंग हो रही है, लेकिन प्रेस का एक वर्ग नरेंद्र मोदी की सरकार को बदनाम करने की कोशिश कर रहा है। बाद में किसी तरह आयोजकों ने मामले को शांत कराया। अशोक पंडित अक्सर सोशल मीडिया पर भी उन लोगों पर बरस पड़ते हैं, जिनको वे भाजपा और मोदी विरोधी मानते हैं। हाल ही में वे अनुराग कश्यप, ऋचा चड्ढा और स्वरा भास्कर की पोस्ट पर उनसे भिड़ गए। अशोक पंडित ने उस मुहिम की भी अगुवाई की थी, जिसमें नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री बनाने के लिए रंगकर्मियों और फिल्मकारों की ओर से एक सार्वजनिक अपील की गई थी। ये अपील उस अपील के जवाब में की गई थी, जिसमें वामपंथी विचारधारा के प्रति झुकाव रखने वाले समूह ने भारतीय जनता पार्टी को विरोध न देने की अपील की थी। इस अपील पर नसीरुद्दीन शाह, कोंकणा सेन शर्मा, विनय पाठक सहित तकरीबन 600 लोगों के हस्ताक्षर थे।

This post has already been read 6304 times!

Sharing this

Related posts