सीमा सुरक्षा बल की एयर विंग ने किया स्वर्ण जयंती समारोह का आयोजन

नई दिल्ली। सीमा सुरक्षा बल की एयर विंग के 50 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में बल के दिल्ली स्थित छावला कैंप परिसर में विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया गया। बल के महानिदेशक रजनी कांत मिश्र की उपस्थिति में मनाए गए स्वर्ण जयंती समारोह में बल की एयर विंग कैप भी जारी की गई। इस दिन बल महानिदेशक मिश्र ने एयर विंग के सभी सदस्यों को उनके योगदान और समर्पित सेवाओं के लिए बधाई दी। सीमा सुरक्षा बल एयर विंग की स्थापना एक मई,1969 को एक क्वीन एयरक्राफ्ट से हुई तथा 1971 में हुए भारत-पाक युद्ध के समय एयरलिफ्ट की जरूरतों और अन्य विशिष्ट आवश्यकताओं को ध्यान में रखकर प्रायोगिक आधार पर पांच डकोटा विमानों को सर्वप्रथम बीएसएफ एयर विंग में शामिल किया गया था। समयानुसार देश के बदलते आंतरिक हालातों व सुरक्षा संबंधी चुनौतियों को देखते हुए विंग के जहाजी बेड़े में नित नए व उन्नत तकनीक से लैस विमानों को शामिल किया गया। बल की एयर विंग देश के गृह मंत्रालय के अधीन सभी विभागों, केंद्रीय बलों और सुरक्षा एजेंसियों की कार्यात्मक आवश्यकताओं को पूरा कर रही है। वर्तमान में विंग में शामिल जहाज केंद्रीय बलों को दुर्गम स्थानों पर जरूरी संसाधनों और जवानों को लाने ले जाने, एंटी नक्सल ऑपरेशस के समय जवानों को जरूरी मेडीकल सुविधा मुहैया कराने, प्राकृतिक आपदा के समय बचाव दल के कार्मिकों को त्वरित कार्रवाई कर गंतव्य स्थान पर पहुंचाने आदि महत्वपूर्ण कार्यों में विंग के कार्मिक महती भूमिका का निर्वहन कर रहे हैं।

This post has already been read 9832 times!

Sharing this

Related posts