Health : आपकी रसोई तक पहुंचा मिलावट, सेहत के लिए काफी नुकसान दायक, जाने कैसे बचे

Health : फल और सब्जियों का सेवन बच्चों से बूढ़े सबों के लिए फायदेमंद है ! मगर ज्यादा चमकदार और ताजा दिखाने के लिए सब्जियों को सिंथेटिक रंगों से रंगकर बाजार में बेचा जा रहा है, जो कि सेहत के खिलाफ काफी नुकसानदेह है। इसके सेवन से कई गंभीर बीमारियां हो सकती हैं।

और पढ़ें : अगर आपने इस महीने यह काम नहीं किया, तो आपका पैन कार्ड बेकार हो जाएगा

इंजेक्शन से लेकर सिंथेटिक रंग का हो रहा इस्तेमाल
आज के समय में खाने पीने की हर चीज में मिलावट देखने को मिलती है। ज्यादातर लोगों ने अब तक शक्कर, दालों और दूध के बारे में सुना होगा, लेकिन सब्जियां और फल भी इससे अछूते नहीं हैं। बाजार में मिल रहीं मिलावटी सब्जी और फल लोगों के स्वास्थ पर बुरा असर डाल रहे हैं। कुछ व्यापारी सब्जियों को जल्दी पकने के लिए कीटनाशकों का इंजेक्शन लगाते हैं। कुछ सिंथेटिक रंग या मैलाकाइट का हरा और मोम का लेप मिलाते हैं।

सब्जी ज्यादा ताजी हो तो भी रहें सतर्क
यदि सब्जियां ज्यादा चमकदार नजर आएं तो समझिए कुछ गड़बड़ है। दुकानदार सब्जियों में चमक लाने के लिए उसमें रंग व केमिकल मिलाते हैं। पानी में केमिकल मिलाया जाता है इर फिर सब्जियों को इसमें डुबाकर उन्हें ताजा रंग व चमक दी जाती है। रोजाना शरीर में पहुंचने वाले खाद्य पदार्थ सेहत पर सीधा प्रभाव डालते हैं। इनसे होने वाली बीमारी का पता भी काफी देर से चलता है। बच्चों के लिए तो मिलावटी खाद्य पदार्थ और भी नुकसानदायक हैं।

इसे भी देखें : आपको भी है कमर में दर्द, तो “डॉ जीतेन्द्र सिन्हा” बता रहे हैं इसका ईलाज

ऐसे चेक करें मिलावट है या नहीं
मिलावटी पदार्थों में असली, नकली का फर्क करना देखने में कठिन होता है। ऐसे में भारतीय खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण (FSSAI) ने एक घरेलू और आसान उपाय बताया है, जिससे आप सब्जियों में मिलावट का पता कर सकते हैं। इसके लिए सबसे पहले लिक्विड पैराफिन में भिगोया हुआ एक कॉटन का कपड़ा लें और इससे सब्जियों के ऊपरी हिस्से को रगड़ें। अगर सब्जी का हरा रंग कपड़े पर लग रहा है तो समझ लें कि सब्जी में मिलावट की गई है। वहीं अगर कपड़े का रंग नहीं बदला तो समझ लें कि सब्जी में मिलावट नहीं है।

This post has already been read 21111 times!

Related posts