रेज्यूमे में ब्रेक टाइम को भरें ऐसे

नौकरी के दौरान कई बार न चाहते हुए भी खाली समय का ऐसा अंतर आ जाता है, जो बाद में रेज्यूमे में बहुत अखरता है। वजह कोई भी हो, मगर एक बार आपके इस गैप पर इंटरव्यू बोर्ड की नजर चली जाए तो आपके लिए मुश्किल खड़ी हो सकती है। आइए जानते हैं कि कैसे इस समय को समझदारी से भरें।

सिर्फ वर्ष लिखें:- अपने रेज्यूमे की डेटलाइन में महीना व वर्ष लिखने के स्थान पर सिर्फ वर्ष ही लिखें। इस तरह आप गैप में आने वाले कुछ महीनों को छुपा सकते हैं।

स्टडी ब्रेक:- अगर आप स्टडी के लिए ब्रेक पर थे तो उसे अपने रेज्यूमे में जरूर शामिल करें, साथ ही यह भी लिखें कि यह स्टडी कैसे आपकी योग्यता को बढ़ा रही है और इस नौकरी के लिए कैसे फायेदमंद है।

स्वास्थ्य समस्या:- अगर आप किसी स्वास्थ्य समस्या के कारण नौकरी से दूर रहे हों तो इसका उल्लेख भी किया जाना चाहिए। साथ ही बताना चाहिए कि अब आपका स्वास्थ्य अच्छा है और कुछ छोटे-मोटे एसाइनमेंट्स में व्यस्त हो चुके हैं।

घर में बिताया गया समय:- कई बार ऐसे मौके आते हैं, जब आपको घर पर अधिक समय देना होता है। खासतौर पर जब आप एक महिला हों। बिना कारण बताए रेज्यूमे में व्यक्तिगत कारणों से घर पर रहने की बात का उल्लेख करें। साथ ही आप इन दिनों मार्केट ट्रेंड पर पूरी नजर बनाए हुए थे, इस बात को भी शामिल करना न भूलें।

बेरोजगारी:- यह एक बेहद संवेदनशील कारण है, जिसे आपको सावधानी से सामने रखना चाहिए। कोशिश करें कि इस बीच आप जो कुछ सीखते रहे हों, मसलन कोई एक्टिविटी, सर्टिफिकेशन या कोर्स, उसे भी रेज्यूमे में शामिल करें। इससे यह साफ हो सकेगा कि आप बदल रहे ट्रेंड से वाकिफ हैं। अगर आपके पास नियमित रूप से 4-5 साल का अनुभव हो तो कुछ चीजों को छोड़ा भी जा सकता है। अनुभवी होने के कारण आपको ये बातें कुछ खास परेशान नहीं करेंगी। ब्रेक टाइम के लिए वहां ज्यादा न सोचें।

This post has already been read 6958 times!

Sharing this

Related posts