फोटोग्रफी के शौकीनों के लिए बेस्ट हैं ये जगहें

अगर आपको ट्रैवल फोटोग्रफर कहे जाने वाले जॉब प्रोफाइल से लगाव है, तो जरूरी नहीं है कि आइसलैंड, अंटार्कटिका, नॉर्वे, इंडोनेशिया या किसी दूर दराज के स्थान पर जाएं। इस बात में कोई दोराय नहीं है कि तस्वीरें लेने के लिए यह जगहें बेहद खूबसूरत हैं। मगर भारत में भी ऐसी खूबसूरत जगहों की कमी नहीं है, जहां के सुंदर नजारों को आप अपने कैमरे में कैद कर सकते हैं। अगर आपको कम बजट में अपने पास खूबसूरत गैलरी तैयार करती है तो बहुत सारा पैसा बहाने की जरूरत नहीं है। भारत एक ऐसा देश है जहां आपको विविधता और सुंदरता कई जगह आश्चर्यचकित कर देती है। ऐसी कुछ जगहों के बारे में हम आपको इस रिपोर्ट में बताएंगे।

मणिपुर का लोकटक लेक

मणिपुर की महिमा के भी हर जगह दावे किए जाते हैं और लोकटक लेक यानी झील के बारे में भी बहुत सुनने को मिलता रहा है। निश्चित रूप से इसे पूर्वोत्तर की सबसे बड़ी ताजे पानी की झील के रूप में जाना जाता है। उससे परे यहां के नजारे फोटोग्राफर्स की दृष्टि से बेहतर विकल्प भी हैं। यह झील जैव विविधता के मामले में भी काफी समृद्ध है और इसे रामसर कन्वेंशन के तहत वेटलैंड ऑफ इंटरनैशनल इंपोर्टेंस के रूप में टैग किया गया है। मॉनसून का मौसत झील की यात्रा के लिए सबसे सही समय है, क्योंकि उस दौरान यह हरे रंग की हो जाती है।

हेमिस का हिम तेंदुआ

अगर आप किसी शानदार चीज को अपने कैमरे में कैद करना चाहते हैं तो निश्चित रूप से हेमिस का हिम तेंदुआ भी एक बेहतर विकल्प है। यहां आप अच्छी चीजों को कैमरे में समेटने के लिए सही शॉट बहुत धैर्य और कड़ी मेहनत के साथ कैप्चर करते हैं। अगर आप वन्यजीवों की फोटोग्राफी करना चाहते हैं तो लद्दाख के हेमिस नैशनल पार्क की यात्रा आपके लिए है। यह मैदान तमाम मायावी हिम तेंदुओं का घर है, इस जगह को भूतों के पहाड़ के रूप में भी जाना जाता है। इनका एक शॉट भी अच्छा बन पड़े तो यह फोटोग्रफर्स समुदाय के लिए फेम हासिल करने का टिकट है।

उत्तराखंड में फूलों की घाटी

यदि आप एक फोटोग्रफर के रूप में एक बढ़िया पोर्टफोलियो तैयार करने की कल्पना करते हैं, तो उत्तराखंड जैसी खूबसूरती हर जगह नहीं मिलेगी। वैली ऑफ फ्लावर्स की यात्रा स्विट्जरलैंड की अल्पाइन घास के मैदानों के रूप में अच्छी है जो दुनिया के लिए बेहतर फोटोग्रफी अनुभव देने को लेकर जानी जाती है। कुछ ट्रैकिंग का अनुभव भी यहां काफी यादगार हो सकता है।

अरुणाचल की अपातानी जनजाति

खैर, अच्छे ट्रैवल फोटोग्राफी पोर्टफोलियो लोगों के लिए बहुत जरूरी है कि वह मानव तत्व वाली गैलरी भी तैयार करे। विशेष रूप से कुछ महान चित्र शॉट्स के लिए अरुणाचल प्रदेश का रुख भी किया जा सकता है जहां अपातानी जनजाति का घर है। वह काफी प्रसिद्ध हैं और फोटो खिंचवाते से गुरेज नहीं करते। याद रखें कि यह राज्य 26 जनजातियों का एक जीवंत घर है और आपकी कल्पनाओं को उड़ान देने के लिए पर्याप्त जगह है।

लद्दाख का पैंगोंग त्सो

देश के अधिकांश आश्चर्यजनक स्थानों के बारे में आपने सुना होगा, इन्हीं में से एक है लद्दाख का पैंगोंग त्सो। जहां हिमालयी ऊंचाई और झील की भव्यता मेल खाते हुए दिखती है। यह एक ऐसी जगह है जहां फोटोग्राफी में अलग से इफेक्ट डालने की जरूरत नहीं पड़ती। इसका नीला पानी उतना ही नीला है जितना कि तस्वीरों में दिखता है। यह ऐसी जगह भी है जहां आप कुछ अलग तरह की फोटोग्रफी में खुद को आजमा सकते हैं।

This post has already been read 258790 times!

Sharing this

Related posts