कर्ज चुकाने में विफल रिलायंस कम्युनिकेशन्स एनसीएलटी में जाएगा

मुंबई। अनिल अंबानी की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही है। कर्ज चुकाने में विफल रही अंबानी के नियंत्रण वाली कंपनी रिलायंस कम्युनिकेशंस(आरकॉम) ने डेट रेजॉलूशन के लिए अब एनसीएलटी का रुख करने जा रही है। कंपनी पर 42,000 करोड़ रुपये का कर्ज है और पिछले डेढ़ साल में कंपनी यह कर्ज चुकाने में नाकाम रही है। शुक्रवार को बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स की बैठक के बाद कंपनी ने बयान जारी किया है। बोर्ड के अनुसार, 18 महीने के वक्त के बाद भी कर्जदाताओं को एसेट्स सेल प्लान से कछ नहीं मिला है और ओवरऑल डेट रोजॉलूशन प्रक्रिया को अभी आगे बढ़ना है। कंपनी ने कहा कि कई तरह की कानूनी अड़चनों और 40 से ज्यादा कर्जदाताओं के बीच सहमति नहीं बनने की वजह से वह अपने 18, 000 करोड़ रुपये के एसेट्स सेल प्लान को पूरा नहीं कर पाई है। बता दें कि कंपनी अपने कर्जदाताओं के साथ 45 से ज्यादा बैठकें कर चुकी है। आरकॉम के कर्जदाताओं में एसबीआई, चाइना डिवेलपमेंट बैंक, एचएसबीसी समेत कई बड़े बैंक शामिल हैं। कंपनी के बयान में आगे कहा गया है, बोर्ड को लगता है कि यह कदम सभी स्टेकहोल्डर्स के हित में है। इससे 270 दिनों के भीतर पारदर्शी तरीके से निश्चित समय में डेट रेजॉलूशन की प्रक्रिया पूरी होगी। आरकॉम और उसकी दो यूनिट्स रिलायंस टेलिकॉम लिमिटेड और रिलायंस इन्फ्राटेल लिमिटेड जल्द ही एनसीएलटी के द्वारा फास्ट ट्रैक डेट रेजॉलूशन के लिए कदम उठाएगी।

This post has already been read 10501 times!

Sharing this

Related posts