जब सदन में उत्पन्न हुई तृणमूल सांसद व भाजपा सदस्य के बीच हाथापाई की नौबत

नई दिल्ली ।  लोकसभा में आज उस वक्त हाथापाई की स्थिति उत्पन्न हो गई जब हाल ही में तृणमूल कांग्रेस छोड़कर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल हुए सौमित्र खान पश्चिम बंगाल के हालात पर अपनी बात रख रहे थे। खान द्वारा पश्चिम बंगाल की पुलिस और राज्य सरकार की शिकायत किए जाने से नाराज तृणमूल सदस्य उनकी सीट की ओर दौड़ पड़े और माइक पर नारेबाजी करने लगे।
लोकसभा में शून्यकाल के दौरान अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने तृणमूल कांग्रेस के सौगत रॉय को अपनी बात रखने का समय दिया। रॉय ने अपनी बात रखते हुए केंद्र सरकार पर आरोप लगाया कि वह केंद्रीय जांच एजेंसी(सीबीआई) का दुरुपयोग कर रही है। इसी क्रम में बीजू जनता दल(बीजद) के भर्तृहरि महताब ने ओडिशा में भी सीबीआई की कार्रवाई की तीखी आलोचना करते हुए कहा कि यह लोकतंत्र के लिए ठीक नहीं है। वहीं, कांग्रेस के मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि केंद्र सरकार सीबीआई को हथियार बनाकर विपक्ष की आवाज बंद नहीं कर सकती है। उन्होंने कहा कि जहां भी उत्तर प्रदेश में भी केंद्र ने सीबीआई का दुरुपयोग करने का काम किया है, किंतु ऐसा करने से विपक्ष घबराने वाला नहीं है।
इसी बीच मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी(माकपा) के मोहम्मद बदरुद्दोजा खान ने कहा कि सीबीआई का दुरुपयोग जरूर हो रहा है लेकिन पश्चिम बंगाल में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी जो किया है, वह ठीक नहीं है। उन्होंने कहा कि कोई मुख्यमंत्री किसी पुलिस अधिकारी के बचाव में इस तरह से धरने पर कैसे बैठ सकता है। खान के इतना कहते ही तृणमूल सदस्य बिगड़ कर उनकी माइक में जाकर सीबीआई और केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। इतने में लोकसभा अध्यक्ष ने हाल ही में भाजपा में शामिल हुए सौमित्र खान का नाम पुकारा। खान ने पश्चिम बंगाल में कानून व्यवस्था ध्वस्त होने का आरोप लगाते हुए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के धरने का विरोध किया। उनके इतना कहते ही उनके बगल में बैठे तृणमूल सदस्य और दूसरे अन्य सदस्य उनकी सीट पर पहुंचकर माइक में भाजपा और केंद्र विरोधी नारे लगाने लगे। हंगामे के बीच तृणमूल कांग्रेस की काकोली घोष अचानक खान के माइक के पास पहुंच गई और ऐसा लगा कि हाथापाई हो जाएगी खान बिना रुके अपनी बात कहते रहे। इस बीच घोष ने उन्हें रोकने का प्रयास किया किंतु उनके नहीं रुकने पर काकोली ने उनकी तरफ थप्पड़ मारने के अंदाज में हाथ उठाया। सदन में यह नजारा देख भाजपा सदस्य खड़े हो गए औऱ उधर से खान ने अपनी सीट छोड़कर दूसरी सीट से अपनी बात रखनी शुरू की। इस दौरान भाजपा के अनुराग ठाकुर, निशिकांत दुबे, विनोद सोनकर और कई अन्य सदस्य खान के आसपास की सीटों पर आकर बैठ गए। इसके बाद सौमित्र ने अपनी बात रखी।
उल्लेखनीय है कि गत दिसंबर माह में खान ने तृणमूल कांग्रेस छोड़कर भाजपा की सदस्यता ग्रहण की थी। वह पश्चिम बंगाल की विष्णुपुर लोकसभा सीट से सांसद हैं।

This post has already been read 9862 times!

Sharing this

Related posts