स्वास्थ्य के प्रति समाज को जागरूक करें डॉक्टर : उपराष्ट्रपति

नई दिल्ली। उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने कहा कि समाज में चिकित्सकों का अहम रोल है। वो नि:स्वार्थ भाव से समाज की सेवा करते हैं। उन्होंने सोमवार को ‘राष्ट्रीय चिकित्सा दिवस’ के मौके पर डॉक्टरों को बधाई देते हुए कहा कि डॉक्टरों की जिम्मेदारी है कि वो समाज के लोगों को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करें और उनको उत्तम जीवन शैली के लिए प्रेरित करें। इसके लिए हर डॉक्टर को चाहिए कि वो आस-पास के शिक्षण संस्थानों और गांव-कस्बों में जाएं और वहां के लोगों को स्वस्थ रहने एवं संतुलित जीवन शैली के बारे में बताएं। नायडू ने सोमवार को दिल्ली मेडिकल एसोसिएशन के एक प्रतिनिधिमंडल को संबोधित करते हुए कहा कि डॉक्टर मरीजों की जिस तरह से सेवा करता है उसके लिए वो बधाई के पात्र हैं।

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने भी चिकित्सा दिवस पर चिकित्सकों को बधाई देते हुए कहा कि देश के डॉक्टर नि:स्वार्थ भाव से देश की सेवा करते हैं। इसके लिए वो बधाई के पात्र हैं।

केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने भी चिकित्सकों को बधाई देते हुए कहा कि वरिष्ठ चिकित्सक एवं स्वतंत्रता सेनानी, भारत रत्न डॉ बिधान चंद्र रॉय की जयंती पर देश के सभी चिकित्सकों को ‘राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस’ की शुभकामनाएं।

उल्लेखनीय है कि हर वर्ष एक जुलाई को ‘राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस’ मनाया जाता है। इसकी शुरुआत केंद्र सरकार द्वारा 01 जुलाई,1991 में की गई थी। महान चिकित्सक और पश्चिम बंगाल के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ बिधानचंद्र रॉय को सम्मान देने के लिए ‘राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस’ मनाया जाता है। रॉय का जन्मदिन एवं पुण्यतिथि दोनों इसी तारीख को पड़ती है। इस दिन चिकित्सकों की बहुमूल्य सेवा, भूमिका और महत्व के बारे में आमजनों को जागरुक किया जाता है और डॉकटरों को उनके कार्यों के लिए सम्मानित किया जाता है।

This post has already been read 6274 times!

Sharing this

Related posts