हर महिला को बोलने चाहिए माँ दुर्गा के ये 4 मंत्र, घर-परिवार में होगी उन्नति

हर महिला की यही कोशिश होती हैं कि उसके घर परिवार में सब कुछ अच्छा चले. माँ दुर्गा इस काम में आपकी मदद अवश्य कर सकती हैं. माता रानी के पास असीम शक्तियों का खजाना होता हैं. ऐसे में यदि आप माँ के समक्ष कुछ ख़ास मंत्रों का जाप करते हैं तो आपके घर की सभी परेशानियाँ समाप्त हो जाती हैं.

पहला मंत्र

सर्वमंगल मांगल्ये शिवे सर्वार्थ साधिके। शरण्ये त्र्यंबके गौरी नारायणि नमोऽस्तुते।

इस मंत्रा का उच्चारण आप मंगलवार की सुबह दुर्गा माँ की प्रतिमा के सामने करे. इस दौरान महिलाएं लाल या पीले रंग की साड़ी पहने और जमीन पर आसन बिछा उसपर बैठ जाए. इसके बाद माँ दुर्गा के सामने घी का दीपक प्रज्वलित करे. इसके साथ ही दीपक को हाथ में लेकर इस मंत्र का उच्चारण 7 बार करे.

दूसरा मंत्र

ॐ जयन्ती मंगला काली भद्रकाली कपालिनी। दुर्गा क्षमा शिवा धात्री स्वाहा स्वधा नमोऽस्तुते।।

ये मंत्र आप सप्ताह में किसी भी दिन बोल सकते हैं. इसे आप माँ दुर्गा की आरती करने के पूर्व और आरती समाप्त होने के बाद दोनों समय बोले. ऐसा करने से आपके मन की मुराद माँ दुर्गा के पास शीघ्र पहुंचेगी.

तीसरा मंत्र

या देवी सर्वभूतेषु शक्तिरूपेण संस्थिता, नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।।

यह मंत्र आप मंगलवार या गुरुवार के दिन जपे. इसे आप सामान्य तरीके से माँ दुर्गा के समक्ष बैठकर दिन में कभी भी और कितनी भी बार जप सकते हैं.

चौथा मंत्र

नवार्ण मंत्र ‘ॐ ऐं ह्रीं क्लीं चामुण्डायै विच्चै’

इस मंत्र का उच्चारण आपको कम से कम 51 बार करना हैं. इससे ज्यादा बार भी इसका जाप किया जा सकता हैं. इस मंत्र में बहुत शक्ति होती हैं. इसे महिलाओं के साथ घर के पुरुष भी जप सकते हैं. ये पुरे परिवार के हित में कार्य करता हैं. इन चार मंत्र जिनका जाप आप सभी को अवश्य करना चाहिए. इन मंत्रों को आप एक ही दिन या अलग अलग समय पर दोनों ही तरीकों से जप सकते हैं. ये मंत्र आपके घर में पॉजिटिविटी बढ़ने का कार्य भी करेंगे. इनके प्रयोग से घर की बरकत भी बनी रहेगी. साथ ही धन अवाक के नए मार्ग खुल जाएंगे.

This post has already been read 2029 times!

Sharing this

Related posts