श्रद्धा ने गुड़ी पड़वा पर दादा-दादी संग बिताए पल किए ताजा

मुंबई। महाराष्ट्रियन नव वर्ष गुड़ी पड़वा के मौके पर अभिनेत्री श्रद्धा कपूर की कोशिश होती है कि वह इस दिन शहर में मौजूद हों ताकि अपने परिवार के साथ समय बिता सकें। इस साल श्रद्धा गुड़ी पड़वा पर अपने काम में व्यस्त है क्योंकि वह शहर में ‘छिछोरे’ की शूटिंग कर रही है, लेकिन अभिनेत्री को इस बात की खुशी है कि वह कम से कम अपने परिवार के साथ समय बिता पाएंगी। त्यौहार से जुड़ी यादों के बारे में श्रद्धा ने कहा, “बचपन से ही, गुड़ी पड़वा मेरे जीवन का एक हिस्सा रहा है। अपने दादा-दादी के साथ इस दिन को मनाने की सबसे प्यारी यादें मेरे जेहन में आज भी ताजा हैं। हम इस दिन तिल गुड़ के लड्डू खाते और मैं अपने दादा-दादी द्वारा बहुत सारा खाना खिलाए जाना का इंतजार करती थी। अब मैं लगभग हमेशा फिल्म की शूटिंग में व्यस्त होती हूं। परंपरागत रूप से मेरा परिवार इस दिन एकत्र होता है, लेकिन अब मुझे इसका हिस्सा बनने का मौका नहीं मिल पाता है।” गुड़ी पड़वा को मनाने के लिए विशेष गुड़ी बनाई जाती है और फूल, नीम और आम के पत्तों की माला को ऊपर की तरफ रखे चांदी या तांबे के बर्तन में पहनाई जाती है जो विजय और उपलब्धि का प्रतीक है। श्रद्धा की मां शिवांगी महाराष्ट्रियन हैं और अभिनेत्री के लिए अपने परिवार के साथ इस दिन को मनाने की परंपरा रही है। इस दिन विशेष महाराष्ट्रियन आहार जैसी कि पूरण पोली, शीरा और श्रीखंड प्रत्येक वर्ष बनाया जाता है और मीठे की शौकीन श्रद्धा इस दिन अपने डाइट से एक दिन की छुट्टी ले कर इसका भरपूर आनंद लेती है। हालांकि, नया साल आम तौर पर नए रेजोल्यूशन के साथ आता है, लेकिन श्रद्धा इस बात में यकीन नहीं करती है। बकौल श्रद्धा, “नए साल के रेजोल्यूशन में विश्वास नहीं है। मुझे ऐसा लगता है कि जब भी किसी को इसकी आवश्यकता महसूस होती है, तब उसे रेजोल्यूशन लेना चाहिए।” पिछले साल अभिनेत्री ने गुड़ी पड़वा पर अपने परिवार को चंदेरी साड़ियां उपहार में दी थी, क्योंकि वह ‘स्त्री’ के लिए मध्य प्रदेश के चंदेरी में शूटिंग कर रही थी।

This post has already been read 8231 times!

Sharing this

Related posts