चेन्नई सुपर किंग्स की हार के लिए रोहित शर्मा ने धौनी को ठहराया जिम्मेदार

चेन्नई। रोहित शर्मा की कप्तानी पारी तथा लेसिथ मलिंगा की अगुवाई में गेंदबाजों के उत्कृष्ट प्रदर्शन से मुंबई इंडियन्स ने शुक्रवार को यहां चेपक स्टेडियम पर चेन्नई सुपरकिंग्स के विजय अभियान पर रोक लगाकर 46 रन से जीत दर्ज की तथा आईपीएल 2019 के प्लेऑफ में पहुंचने की तरफ मजबूत कदम बढ़ाये। रोहित ने 48 गेंदों पर छह चौकों और तीन छक्कों की मदद से 67 रन बनाये जो उनका आईपीएल 2019 में पहला अर्धशतक है। उन्होंने इस बीच इर्विन लुईस (32) के साथ तीसरे विकेट के लिये 75 रन जोड़े लेकिन चेन्नई के गेंदबाजों विशेषकर स्पिनरों ने बल्लेबाजों को खुलकर नहीं खेलने दिया और मुंबई चार विकेट पर 155 रन ही बना पाया। चेन्नई के लिये यह स्कोर भी पहाड़ जैसा बन गया। उसे महेंद्र सिंह धोनी की कमी खली जो अस्वस्थ होने के कारण इस मैच में नहीं खेल पाये। मुरली विजय (34 गेंदों पर 38 रन) ने दूसरे छोर से विकेट गिरने के कारण धीमी बल्लेबाजी की। उनके अलावा ड्वेन ब्रावो (20) और मिशेल सैंटनर (22) ही दोहरे अंक में पहुंचे और चेन्नई की टीम 17.4 ओवर में 109 रन पर आउट हो गयी। मलिंगा ने 37 रन देकर चार जबकि क्रुणाल पंड्या ने सात रन देकर दो और जसप्रीत बुमराह ने दस रन देकर दो विकेट लिये। हार्दिक पंड्या और अनुकूल राय ने एक एक विकेट हासिल किया। चेन्नई की यह 12 मैचों में चौथी हार है लेकिन वह अब भी 16 अंक लेकर अंकतालिका में शीर्ष पर बना हुआ है। मुंबई की 11 मैचों में सातवीं जीत है और वह 14 अंक के साथ दूसरे स्थान पर पहुंच गया है। चेन्नई की चेपक पर यह सात जीत के बाद पहली हार है। उसने 22 अप्रैल 2013 के बाद अपने घरेलू मैदान पर दूसरा मैच गंवाया। मैच में शुरू से गेंदबाजों को दबदबा रहा। मुंबई के स्पिनरों ने कसी गेंदबाजी की।सैंटनर ने चार ओवर में 13 रन देकर दो विकेट लिये। इमरान ताहिर और दीपक चाहर ने एक एक विकेट लिया। जब मुंबई के गेंदबाजों की बारी आयी तो उन्होंने शुरू से ही चेन्नई को दबाव में ला दिया आखिर तक उसे बैकफुट पर रखा। मलिंगा ने पिछले मैच में 96 रन की धमाकेदार पारी खेलने वाले शेन वाटसन (आठ) को पहले ओवर में आउट कर दिया। मलिंगा को अगले ओवर में विजय का विकेट भी मिल जाता लेकिन आईपीएल में पदार्पण कर रहे अनुकूल ने आसान कैच छोड़ दिया। मुंबई को दूसरे विकेट के लिये इंतजार नहीं करना पड़ा। हार्दिक ने अपनी पहली गेंद पर कप्तान सुरेश रैना (दो) को प्वाइंट पर कैच कराया जबकि उनके भाई क्रुणाल ने अंबाती रायुडु (शून्य) और केदार जाधव (छह) को बोल्ड करके चेन्नई को संकट में डाल दिया।बायें हाथ के स्पिनर अनुकूल ने अपनी ही गेंद पर अपना पहला मैच खेल रहे ध्रुव शोरे (पांच) का कैच भी छोड़ा लेकिन इसी ओवर में वह इस बल्लेबाज के रूप में अपना पहला आईपीएल विकेट लेने में सफल रहे जबकि बुमराह ने विजय की संघर्षपूर्ण पारी का अंत किया। ब्रावो और सैंटनर ने सातवें विकेट के लिये 33 रन जोड़े। मलिंगा ने ब्रावो को अपनी ही गेंद पर कैच करके यह साझेदारी तोड़कर चेन्नई की रही सही उम्मीद भी समाप्त कर दी।इससे पहले कार्यवाहक कप्तान रैना ने चेन्नई के टास जीतने के क्रम को बरकरार रखा और दीपक चाहर ने तीसरे ओवर में क्विंटन डिकाक (15) को विकेटकीपर अंबाती रायुडु के हाथों कैच कराकर मुंबई को शुरू में ही करारा झटका दिया। मुंबई पहले छह ओवर में 45 रन तक ही पहुंच पाया। इसकी वजह हरभजन सिंह (चार ओवर में 23 रन) थे जिन्होंने पावरप्ले में किये गये तीन ओवर में केवल नौ रन दिये लेकिन इस आफ स्पिनर के आखिरी ओवर में रोहित ने डीप मिडविकेट और लांग आन पर छक्के जड़कर उनका गेंदबाजी विश्लेषण आकर्षक नहीं रहने दिया। रोहित ने 13वें ओवर में 37 गेंदों का सामना करके अर्धशतक पूरा किया जिससे मुंबई भी तिहरे अंक में पहुंचा लेकिन इससे पहले सैंटनर ने लुईस को आउट करके साझेदारी तोड़ दी थी। उनका स्थान लेने के लिये उतरे क्रुणाल पंड्या (01) ने भी ताहिर पर गलत टाइमिंग से शाट खेलकर अपना विकेट गंवाया। रोहित ने ताहिर के आखिरी ओवर में दो चौके और एक छक्का लगाया लेकिन सैंटनर ने अगले ओवर में उन्हें पवेलियन भेज दिया। इसके बाद हार्दिक पंड्या (नाबाद 23) और कीरोन पोलार्ड (नाबाद 13) क्रीज पर थे लेकिन अगले दो ओवर में केवल सात रन बने। आखिरी दो ओवर में 27 रन बनने से टीम 150 रन के पार पहुंच पायी।

This post has already been read 7408 times!

Sharing this

Related posts