मुठभेड़ में रीजनल कमांडर बाजीराम महतो ढेर

रांची।  पुलिस और पीएलएफआई उग्रवाि‍दियों में हुई मुठभेड़ में रीजनल कमांडर बाजीराम महतो मारा गया। घटना बुधवार देर रात रामगढ़ जिले के कुजू थाना क्षेत्र के बड़की टुंडी की है। पुलिस सूत्रों के अनुसार गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए बड़की टुंडी के जंगल में सर्च अभियान चलाया था। इसी दौरान बाजीराव मारा गया। बाजीराव रामगढ़ और बोकारो के सीमावर्ती क्षेत्रों में सक्रिय था। इसके खिलाफ कई उग्रवादी घटनाओं को अंजाम देने का आरोप था।
उल्लेेखनीय है कि 18 अक्टूबर 2018 को उसने सीसीएल घाटो क्षेत्र के सीपीआई नेता बालेश्वर महतो की गोली मारकर हत्या कर दी थी ।इसके अलावा बाजीराव ने गोला प्रखंड प्रमुख जलेश्वर महतो को उसके घर से अगवा कर 20 लाख की रंगदारी मांगी थी ।हाल ही में रजरप्पा थाना क्षेत्र के दुलमी में बाजीराव के दस्ते ने सड़क निर्माण कंपनी के कैम्प पर हमला कर 9 वाहन को आग के हवाले कर दिया था । बाजीराम के घर की पुलिस ने बुधवार को ही कुर्की जब्ती की थी। एसपी निधि द्विवेदी ने घटना की पुष्टि की है।

This post has already been read 9063 times!

Sharing this

Related posts