रांचीः व्यवसायी बंधु हत्याकांड में एक गिरफ्तार

लोकेश चौधरी फर्जी आयकर और आईबी अधिकारी बनकर करता था ठगी

रांची। रांची के अशोक नगर स्थित एक निजी चैनल के ऑफिस में हुई व्यवसायी बंधुओं महेंद्र अग्रवाल व हेमंत अग्रवाल हत्याकांड मामले में पुलिस ने मुख्य अभियुक्त लोकेश चौधरी के बॉडीगार्ड सुनील सिंह उर्फ सुनील कुमार को बोकारो से गिरफ्तार किया है। उसके पास से हथियार के साथ-साथ हत्याकांड से जुड़ी अहम सामग्रियां बरामद हुई हैं। शुक्रवार को एसएसपी अनीश गुप्ता ने प्रेस कांफ्रेस में बताया कि गुरुवार को सुनील सिंह उर्फ सुनील कुमार को बोकारो थर्मल डीवीसी कॉलोनी क्वार्टर नंबर जीएमटी 14 ई से गिरफ्तार किया गया। उसके पास से 32 बोर का रेगुलर रिवॉल्वर, 19 गोलियां, दो मोबाइल फोन, हथियार का लाइसेंस, घटनास्थल का डीवीआर का जला अवशेष, मृतक महेन्द्र अग्रवाल व हेमंत अग्रवाल का जला हुआ मोबाइल फोन का अवशेष, अभियुक्त सुनील कुमार एवं धर्मेंद्र कुमार तिवारी का घटना के समय पहना हुआ पीले रंग का टीशर्ट व शर्ट का जला अवशेष बरामद किया गया है। हत्याकांड से जुड़े अन्य अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए लगातार छापेमारी की जा रही है।
एसएसपी ने बताया कि सुनील ने अपने बयान में बताया कि हत्याकांड में एमके सिंह भी शामिल था। जो हत्या के दिन अपने आप को आईबी का अधिकारी बताकर अग्रवाल बंधुओं को ठगने का प्रयास कर रहा था। उसने बताया कि लोकेश चौधरी ने भी दोनों भाईयों को गोली मारी थी। 7 मार्च को दोनों भाईयों की गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी। एसएसपी ने बताया कि जांच के क्रम में यह भी पता चला है कि लोकेश चौधरी फर्जी आयकर और आईबी अधिकारी बनकर लोगों से ठगी करता था। लोकेश चौधरी की गिरफ्तारी के लिए लगातार छापेमारी की जा रही है। एसएसपी ने बताया कि छापेमारी टीम में हटिया डीएसपी प्रभात रंजन बरवार, अरविंद कुमार सिंह, कमलेश राय, सतीश कुमार सहित सशस्त्र बल शामिल थे।

This post has already been read 693 times!

Sharing this

Related posts