पाकिस्तान में एयर स्ट्राइक के बाद पहली बार बोले प्रधानमंत्री मोदी, ‘देश में आज खुशी का माहौल’

जयपुर/ चूरू। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पाकिस्तान में भारतीय वायुसेना की एयर स्ट्राइक के बाद मंगलवार को राजस्थान के चूरू में एक जनसभा को संबोधित करते हुए पहली बार कहा, ‘आज आपका मिजाज कुछ अलग लग रहा है। मैं आपका यह उत्साह समझ रहा हूं। आज देश में खुशी का माहौल है।’नरेन्द्र मोदी ने देशवासियों को विश्वास दिलाया है कि अब देश सुरक्षित हाथों में है। उन्होंने विजय संकल्प रैली में उत्साह से लबरेज चूरू वासियों से कहा कि आज ऐसा पल है कि हम भारत के पराक्रमी वीरों को सिर झुकाकर नमन करें। मैं आज चूरू की इसी धरती से आप लोगों को यकीन दिलाता हूं कि देश से बढ़कर कुछ नहीं होता। देश की सेवा करने वाले देश के निर्माण में लगे हर व्यक्ति को आपका यह प्रधान सेवक नमन करता है। दिल्ली में बने देश के पहले राष्ट्रीय युद्ध स्मारक का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आजादी के 70 साल बाद देश की रक्षा में प्राण न्यौछावर करने वाले अमीर शहीदों की याद में यह स्मारक देश को समर्पित किया गया है। यह शेखावटी के चूरू, झुंझुनू और सीकर के लिए भी अहम है। क्योंकि यहां के हजारों नवजवान देश की सीमा पर राष्ट्र रक्षा के लिए लगे हुए हैं। उन्होंने सेना को दी गई वन रैंक वन पेंशन का जिक्र करते हुए कहा कि 20 लाख से अधिक सैनिक परविारों को इसका लाभ मिला है। कुल 35 हजार करोड़ रुपये फौजी परिवारों में वितरित किए गए हैं। इसमें राजस्थान के भी एक लाख से अधिक फौजी परिवारों को लाभ मिला है। प्रधानमंत्री ने रैली के दौरान प्रदेश की कांग्रेस सरकार पर निशाना साधते हुए किसान सम्मान निधि योजना और आयुष्मान योजना में केन्द्र सरकार का साथ नहीं देने पर आलोचना की।
मैं देश नहीं झुकने दूंगा
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने साल 2014 में विजय शंखनाद युवा संगम का जिक्र करते हुए उस समय चर्चा में आई कविता ‘मैं देश नहीं झुकने दूंगा…’ को फिर से दोहराते हुए कहा कि मैंने अपने दिल की बात आपके सामने रखी थी। मेरी आत्मा कहती हैं कि आज फिर से दोहराने का दिवस है। उन्होंने कहा, सौंगध मुझे इस मिट्टी की, मैं देश नहीं मिटने दूंगा। मैं देश नहीं रुकने दूंगा, मैं देश नहीं झुकने दूंगा। मेरा वचन है भारत मां को, तेरा शीष नहीं झुकने दूंगा। जाग रहा है देश मेरा, हर भारतवासी जीतेगा। हमें फिर से दोहराना है और खुद को याद दिलाना है, न भटकेंगे न अटकेंगे, कुछ भी हो हम देश नहीं मिटने देंगे। सौंगध मुझे इस मिट्टी की, मैं देश नहीं मिटने दूंगा।

This post has already been read 10236 times!

Sharing this

Related posts