पित्रोदा के बयान पर बोले जेटली, बैकफुट पर खेल कर मैच नहीं जीत सकते

नई दिल्ली। केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली ने कांग्रेस नेता सैम पित्रोदा के बालाकोट एयरस्ट्राइक को लेकर दिए बयान की तीखी आलोचना की है। उन्होंने कहा कि यह दुर्भाग्य की बात है कि ऐसे लोग एक दल के लिए आदर्श हैं। जेटली ने शुक्रवार को भाजपा मुख्यालय में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि पित्रोदा ऐसा मानते हैं कि भारत ने आतंकी शिविरों को ध्वस्त करने के लिए जो किया, वह गलत था जबकि दुनिया के किसी भी देश ने भारत के कदम को गलत नहीं कहा। यहां तक कि ऑर्गेनाइजेशन ऑफ इस्लामिक कोऑपरेशन (आईओसी) ने भी इसे गलत नहीं ठहराया। सिर्फ पाकिस्तान ने इसे गलत बताया। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि पित्रोदा को समझना चाहिए कि बैकफुट पर खेलकर किसी मैच को नहीं जीता जा सकता है। उन्होंने कहा कि हमारा साफ़ कहना है कि जहां से आतंक शुरू होता है, हम उसे समाप्त करने वहीं तक जायेंगे। इससे पहले, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी सैम पित्रोदा के बयान को लेकर उन पर सीधा हमला बोलते हुए कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के सबसे करीबी सहयोगी ने कांग्रेस के नाम पर बालाकोट हमले पर सवाल खड़े कर पाकिस्तान राष्ट्र दिवस समारोह के आगाज की शुरुआत कर दी है। मोदी ने कहा कि विपक्ष ने फिर से हमारे सुरक्षाबलों का अपमान किया है। उन्होंने सभी देशवासियों से अपील की कि वे विपक्षी दलों के नेताओं के बयान पर उनसे सवाल करें। उन्हें बताएं कि 130 करोड़ भारतीय विपक्ष की ऐसी हरकतों को माफ नहीं करेंगे और भारत अपने सुरक्षाबलों के साथ खड़ा है। उल्लेखनीय है कि एक साक्षात्कार में पित्रोदा ने कहा कि अगर उन्होंने एयरस्ट्राइक में 300 लोगों को मार गिराया तो यह ठीक है लेकिन इस बात को और तथ्य व प्रमाण के साथ साबित किया जा सकता है। पित्रोदा से पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वाह में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी कैम्प पर भारतीय वायुसेना की एयरस्ट्राइक के बारे में पूछा गया था। कांग्रेस नेता ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय मीडिया में हवाई हमले के असर को लेकर कुछ और चर्चा है और भारत की जनता वायुसेना के ऑपरेशन के तथ्यों के बारे में जानने का अधिकार है। हालांकि, पित्रोदा ने अपने बयान पर विवाद बढ़ता देख इसे कांग्रेस का नहीं अपितु खुद का निजी विचार बताया है।

This post has already been read 7029 times!

Sharing this

Related posts