निर्भया के दोषियों के खिलाफ न बरती जाए कोई रहम : मुख्यमंत्री

नई दिल्ली। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को कहा कि दिल्ली सरकार ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से सिफारिश की है कि निर्भया कांड के दोषियों के खिलाफ किसी भी प्रकार का रहम या दयाभाव न दिखाया जाए। राष्ट्रपति के पास निर्भया कांड में दोषी की ओर से भेजी गई दया याचिका को खारिज करने के लिए दिल्ली सरकार की तरफ से लिखित सिफारिश की है। इसी बाबत केजरीवाल ने मीडिया से बातचीत में कहा कि आज हमारे देश में जिस तरह से छोटी-छोटी बच्चियों के साथ गलत काम हो रहे हैं, जिस तरह दुष्कर्म के बाद हत्या की घटनाएं सामने आ रही हैं,, इससे पूरे देश में उबाल है। निर्भया मामला भी ऐसा था जिसमें पूरा देश सड़कों पर उतर आया था। इस मामले को कई साल हो चुके हैं। हमें लगता है कि ऐसे जितने भी मामले हैं दोषियों को इतनी कड़ी सजा मिलनी चाहिए कि कोई दूसरा व्यक्ति ऐसा काम करने से पहले दस बार सोचे। उल्लेखनीय है कि 2012 के निर्भया केस में फांसी की सजा मुकर्रर हुई है। दया याचिका के लिए आरोपित विनय शर्मा की फाइल दिल्ली सरकार के पास आई थी, जिस पर सख़्त टिप्पणी लिखते हुए दिल्ली सरकार ने दया याचिका को खारिज करने का सुझाव दिया है। दिल्ली सरकार के गृह विभाग के मंत्री सत्येंद्र जैन ने यह दया याचिका खारिज करने का सुझाव दिया है। मंत्री सत्येंद्र जैन ने फाइल पर टिप्पणी करते हुए नोट लिखा है, “ये एक बेहद जघन्य अपराध है, लिहाज़ा इसे खारिज करने की सिफारिश करते हैं।”

This post has already been read 207 times!

Sharing this

Related posts