नौ-नौ घंटे केंद्रीय एजेंसियां मुझसे करती थीं पूछताछ: पीएम

कोलकाता।  केंद्र सरकार पर केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) को नियंत्रित करने का आरोप लगाने वालों पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने करारा हमला बोला है। शनिवार को पश्चिम  बंगाल पहुंचे   प्रधानमंत्री ने  दुर्गापुर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए  गुजरात में अपने मुख्यमंत्री के दौर को याद किया।   उन्होंने कहा कि एक समय  था जब केंद्रीय एजेंसियां मुझसे नौ-नौ घंटे तक पूछताछ करती थीं, लेकिन मैंने उफ तक नहीं किया।
प्रधानमंत्री ने कहा कि चिटफंड घोटाले में शामिल लोग  तथा बड़े से बड़े घोटाले में  शामिल विपक्षी नेता एक होकर मुझे जो पानी पी-पी कर कोसते हैं, गालियां दी जाती हैं, उसकी वजह यही है कि मैं भ्रष्टाचार और कालेधन के खिलाफ कार्रवाई कर रहा हूं। ये लोग इतना बौखला गए हैं कि जांच एजेंसियां तक को पश्चिम बंगाल में आने से मना कर रहे हैं।
प्रधानमंत्री ने कहा कि मुझे भी गुजरात में नौ-नौ घंटे तक बिठाकर दिल्ली से आई एजेंसियां पूछताछ करती थीं। तब मैंने एक बार भी नहीं कहा था कि दिल्ली से आने वाली एजेंसियों को आने नहीं दूंगा। हम लोकतंत्र, संविधान और कानून का सम्मान करने वाले लोग हैं। आपकी तरह लोकतंत्र, संविधान और कानून की धज्जियां उड़ाने वाले नहीं।
उल्लेखनीय है कि वर्ष   2002     में गुजरात में हुए भयावह दंगों   को लेकर सीबीआई जांच शुरू हुई थी और जांच   एजेंसियों ने तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी से कई दिनों तक लगातार पूछताछ   की थी, लेकिन मुख्यमंत्री होने के  बावजूद उन्होंने जांच  में पूरा सहयोग किया था। हर बार एजेंसी के अधिकारियों को पूछताछ के लिए पूरा समय दिया था। इधर, पश्चिम बंगाल में चिटफंड समेत अन्य मामलों की जांच कर रही सीबीआई को राज्य सरकार ने बिना इजाजत किसी भी तरह की कोई कारवाई करने से रोक दिया है। पिछले साल राज्य सरकार के गृह विभाग ने एक अधिसूचना जारी की थी जिसमें स्पष्ट किया गया है कि पश्चिम बंगाल में किसी भी तरह की कोई नई कार्रवाई, जांच, छापेमारी या अन्य कानूनी कार्रवाई करने से पहले सीबीआई को राज्य सरकार की अनुमति लेनी होगी।
इस अधिसूचना के जारी होने के बाद सीबीआई की केवल चिटफंड जांच शाखा ही सक्रिय रह गई है और बाकी सारी शाखाएं राज्य में निष्क्रिय हैं। ममता बनर्जी राज्य की मुख्यमंत्री होने के साथ-साथ गृहमंत्री भी हैं। उन्होंने यह कहते हुए सीबीआई को किसी भी तरह की कार्रवाई से रोक दिया है कि सीबीआई की विश्वसनीयता नहीं बची है और इस एजेंसी को स्वत: जांच का अधिकार नहीं है। इसे लेकर शनिवार को जनसभा के जरिए प्रधानमंत्री ने बड़ा हमला बोला है।

This post has already been read 5865 times!

Sharing this

Related posts