गणेश चतुर्थी पर इन पांच खास मंदिरों में जरूर जाए मन्नत होगी पूरी

उज्जैन का चिंतामण गणेश मंदिर

मध्यप्रदेश के उज्जैन नगर में बना चिंतामण गणेश मंदिर करीब 1,100 साल पुराना है. कहते हैं कि इस मंदिर में मौजूद गणेश प्रतिमाओं की स्‍थापना भगवान राम, लक्ष्‍मण और देवी सीता ने की थी. इस मंदिर की मौजूदा संरचना होलकर वंश की महारानी अहिल्याबाई ने बनवाई थी. इस मंदिर की भव्‍यता देखने लायक है.

जयपुर का मोती डूंगरी गणेश मंदिर

राजस्थान की राजधानी जयपुर का मोती डूंगरी गणेश मंदिर भी बेहद मशहूर है. यहां की मूर्ति 500 साल से ज्‍यादा पुरानी है. इसे जयपुर के राजा माधौसिंह की रानी के पैतृक गांव से लाया गया था. यह मंदिर नए वाहनों की पूजा के लिए बेहद मशहूर है.

इंदौर का खजराना गणेश मंदिर

मध्य प्रदेश के इंदौर शहर का खजराना गणेश मंदिर बेहद मशहूर है. उज्‍जैन के चिंतामण गणेश मंदिर की मौजूदा इमारत की तरह इस मंदिर का निर्माण भी होलकर वंश की महारानी अहिल्या बाई ने करवाया था. मान्‍यता है कि इस इलाके में रहने वाले मंदिर के पुजारी को गणेश मूर्ति के जमीन के अंदर दबे होने का सपना आया था. इसके बाद यहां खुदाई में भगवान की मूर्ति मिली और फिर महारानी ने यहां मंदिर बनवाया.

मुंबई का सिद्धिविनायक मंदिर

महाराष्ट्र के मुंबई शहर में बना सिद्धिविनायक मंदिर सेलिब्रिटीज के बीच बेहद लोकप्रिय है. यहां फिल्‍म स्‍टार्स, देश के बड़े उद्योगपति आए दिन अपनी मन्‍नत मांगने और उसके पूरे होने पर चढ़ावा चढ़ाने के लिए आते रहते हैं. यह मंदिर देश के सबसे अमीर मंदिरों में भी शामिल हैं. इस मंदिर में स्‍थापति गणेश प्रतिमा करीब 200 साल पुरानी है. मंदिर के शिखर पर 3.5 किलो सोने का कलश लगा हुआ है. साथ ही मंदिर के अंदर दीवारों तक पर सोने की परत चढ़ाई गई है.

पुणे का दगड़ू गणेश मंदिर

महाराष्ट्र के पुणे शहर का दगड़ूसेठ हलवाई गणेश मंदिर भी 200 साल पुराना है. यहां के व्‍यापारी दगड़ू सेठ हलवाई ने अपने बेटे की मृत्‍यु के बाद गुरु माधवनाथ महाराज के कहने पर यह गणेश मंदिर बनवाया था. इस मंदिर में भी मन्‍नत मांगने के लिए दूर-दूर से लोग आते हैं.

और पढ़ें : धनबाद पहुंचे RSS प्रमुख मोहन भागवत, तीन दिवसीय दौरे पर संघ के पदाधिकारियों के साथ करेंगे बैठक

ज्यादा ख़बरों के लिए आप हमारे फेसबुक पेज पर भी जा सकते हैं : Facebook

This post has already been read 37947 times!

Related posts