ममता की नैतिक हार और प्रजातंत्र की जीत है सुप्रीम कोर्ट का आदेशः कैलाश विजयवर्गीय

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) के राष्ट्रीय महासचिव एवं पश्चिम बंगाल के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने केंद्रीय जांच ब्यूरो(सीबीआई) और कोलकाता पुलिस के बीच हाल में हुए टकराव के मामले में सुप्रीम कोर्ट के आदेश का स्वागत करते हुए कहा कि यह मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की नैतिक हार और प्रजातंत्र की जीत है।

सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को इस मामले की सुनवाई करने के बाद कोलकाता पुलिस आयुक्त को सीबीआई के साथ सहयोग करने का निर्देश दिया। साथ ही पश्चिम बंगाल मुख्य सचिव, पुलिस महानिदेशक और कोलकाता पुलिस आयुक्त को अवमानना का   नोटिस   भी दिया  ।   कोर्ट के आदेश के बाद विजयवर्गीय ने ट्वीट कर कहा कहा कि यह  ममता बनर्जी की नैतिक हार और प्रजातंत्र की जीत है। उन्होंने एक अन्य ट्वीट में ममता पर निशाना साधते हुए कहा कि उनके राज में गरीबों के साथ जुल्म हो  रहा है   और एक वक्त गरीबों के हक की लड़ाई लड़ने का ढोंग करने वाली तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष चिटफंड कांड के आरोपितों एवं एक पुलिस अधिकारी के लिए मरने मारने को तैयार हैं।

विजयवर्गीय ने एक के बाद एक कई ट्वीट कर कहा कि आखिर चिटफंड कांड के आरोपितों से ममता को ये कैसा स्नेह? गरीबों की हाय ले डूबेगी क्योंकि चिटफंड   कंपनियों ने तृणमूल सरकार के साथ मिलकर गरीबों को लूटा है। 40 हज़ार करोड़ के लुटेरों को भगवान भी माफ नहीं करेगा। भाजपा महासचिव ने कहा कि ममता के राज    में गरीबों के साथ नाइंसाफी हुई है। अब सुप्रीम कोर्ट के बाद तो ममता बनर्जी को अपनी गलती का अहसास होना चाहिए कि गलती उनकी है न कि सीबीआई की और वे जिस राजीव कुमार को बचाने के लिए धरने पर बैठी हैं उसे तो सीबीआई के सामने पेश होना ही पड़ेगा।

This post has already been read 6253 times!

Sharing this

Related posts