लोकसभा चुनाव: कांग्रेस से गठबंधन नहीं होने पर भड़के केजरीवाल, सर्वे का दावा- BJP को सभी 7 सीटों पर मिलेगी जीत

नई दिल्ली: अगले लोकसभा चुनाव में कांग्रेस दिल्ली में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (आप) से गठबंधन नहीं करेगी. यह आप के लिए किसी बड़े झटके से कम नहीं है. ज्यादातर सर्वे में इसका अनुमान है कि गठबंधन नहीं होने से बीजेपी को भारी फायदा होगा. यही वजह है कि कांग्रेस के फैसले से बौखलाए दिल्ली के मुख्यमंत्री और आप संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा.

केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा, ‘‘ऐसे समय जब पूरा देश मोदी-शाह को हराना चाहता है, कांग्रेस, बीजेपी विरोधी वोटों को बांटकर भाजपा की मदद कर रही है. ऐसी अफवाहें हैं कि कांग्रेस का बीजेपी के साथ गुप्त समझौता है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘दिल्ली कांग्रेस-बीजेपी गठबंधन के खिलाफ लड़ने को तैयार है. जनता इस नापाक गठबंधन को हराएगी.’’

आम आदमी पार्टी ने आरोप लगाया कि कांग्रेस, बीजेपी को चुनाव जिताने में ‘मदद’ कर रही है. पार्टी के वरिष्ठ नेता गोपाल राय ने कहा, ‘‘वे (कांग्रेस) बीजेपी की चुनाव जीतने में मदद करना चाहते हैं और आप को हराना चाहते हैं. ऐसा लगता है कि केन्द्रीय नेतृत्व पर देश में भाजपा की मदद करने का दबाव है. वे सेना को आगे रखकर चुनाव जीतना चाहते हैं.’’

यह पूछे जाने पर कि आप क्यों कांग्रेस के साथ गठबंधन करना चाहती है, राय ने कहा ”महागठबंधन के सभी घटक दलों के नेता चाहते हैं कि विपक्षी पार्टियों के मत नहीं बंटने चाहिए.” उन्होंने कहा कि ”सैद्धांतिक तौर पर हम कई मुद्दों पर कांग्रेस के खिलाफ हैं….लेकिन हम देश के लिए यह जहर (कांग्रेस के साथ गठबंधन) पीना चाहते थे.”

पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मिलने के बाद मंगलवार को घोषणा की कि उनकी पार्टी राष्ट्रीय राजधानी में आगामी लोकसभा चुनावों के लिए ‘आप’ के साथ गठबंधन नहीं करेगी.

क्या कहते हैं सर्वे?
एबीपी न्यूज़ और सी-वोटर ने मिलकर दिल्ली की नब्ज टटोलने की कोशिश की है. 25 फरवरी से 3 मार्च के बीच कराए गए सर्वे के मुताबिक, अभी लोकसभा चुनाव हो तो बीजेपी को 47 प्रतिशत लोगों का समर्थन मिलेगा. वहीं आम आदमी पार्टी को 20 प्रतिशत, कांग्रेस को 22 प्रतिशत और अन्य को 11 प्रतिशत लोगों का समर्थन मिलने की उम्मीद है. सर्वे के मुताबिक, कांग्रेस-आप गठबंधन नहीं होने पर बीजेपी 2014 को दोहराएगी. यानि राजधानी की सभी सात सीटों पर बीजेपी का कब्जा होगा. आम आदमी पार्टी और कांग्रेस को एक भी सीट नहीं मिलेगी.

किसे कितनी सीट ?
कुल सीट- 7
बीजेपी-7
आप-0
कांग्रेस-0

अगर कांग्रेस और आप गठबंधन कर चुनाव लड़ते तो बीजेपी को 4 और गठबंधन को 3 सीटें मिलती.

कांग्रेसआप साथ तो क्या?
कुल सीट- 7
बीजेपी-4
गठबंधन-3

सबसे अहम बात यह है कि यदि अभी विधानसभा का चुनाव हो तो दिल्ली में एक बार फिर आम आदमी पार्टी सभी पर भारी है. सर्वे के मुताबिक आप को 39, बीजेपी को 26 और कांग्रेस को 5 सीटें मिल सकती है.

विधानसभा में किसे कितनी सीट ?
कुल सीट- 70
बीजेपी- 26
आप-39
कांग्रेस-5

 

This post has already been read 5987 times!

Sharing this

Related posts