पत्नी की तेज़ धारदार हथियार से टुकड़े-टुकड़े कर हत्या कर दी और शव को जमीन में गाड़ दिया

Bihar : बिहार में दहेज पूरी तरह से प्रतिबंधित है. इसके बावजूद भी दहेज की खातिर जान से मार देने तक की वारदातें रुक नहीं रही हैं. यह मामला है बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के गृह जिला नालंदा में नवविवाहिता को दहेज की बलि चढ़ना पड़ा. महज 6 लाख रुपए के खातिर पति ने अपनी नवविवाहिता पत्नी की तेज़ धारदार हथियार से टुकड़े-टुकड़े कर हत्या कर दी और शव को जमीन में गाड़ दिया.
ग्रुप डी से टीटीई में मिला था प्रमोशन

और पढ़ें : रेल मंत्रालय इन कोच के किराये को लेकर जल्‍द ही फैसला ले सकता है

यह मामला नालंदा जिले के हिलसा थाना क्षेत्र के नोनिया विगहा गांव की है. मिली जानकारी के अनुसार पटना जिले के सलिमपुर निवासी अरविंद सिंह की बेटी काजल कुमारी की शादी हिलसा थाना क्षेत्र के नोनिया विगहा निवासी जगत प्रसाद के बेटे संजीत कुमार के साथ 27 जून 2020 को हुई थी. उस वक्त संजीत कुमार रेलवे में ग्रुप डी के पद पर कार्यरत थे. इसके बाद अब उनका प्रमोशन हुआ और उन्हें हाल ही में टीटीई का पद मिल गया. इस दौरान पत्नी गर्भवती हुई.
प्रमोशन के बाद 4 लाख रुपये और मांगे
महिला के पति का प्रमोशन होने के कारण ससुराल वालों ने फिर से 4 लाख रुपये दहेज की मांग की. जो महिला के परिजन नहीं दे पाए. इसके बाद ससुराल वालों ने गर्भवती महिला को दहेज के लालच में मौत के घाट उतार दिया. इतने से भी से उनका मन नहीं भरा तो महिला के टुकड़े-टुकड़े भी कर डाले और वहीं खेत में शव को गाड़ दिया.

इसे भी देखें : सेक्युलर भारत के स्तंभ थे “दिलीप साहब”

पेट्रोल छिड़ककर जला देने के मिले सबूत
वहीं, इसका खुलासा तब हुआ जब महिला के पिता ने बेटी की खोजबीन शुरू की. उन्हें पूरा शक हुआ कि उनकी बेटी के साथ कुछ गलत हुआ है. बता दें कि घटनास्थल से मृतक काजल के शव को पेट्रोल छिड़ककर जला देने के भी सबूत मिले हैं. वहीं, इस घटना को लेकर महिला के पिता ने महिला के पति और उसके ससुराल वालों समेत 5 लोगों पर आरोप लगाया है. फिलहाल, पुलिस इस मामले की जांच में जुटी हुई है.

This post has already been read 1190 times!

Sharing this

Related posts