फिल्म निर्देशक वेद राही कुसुमाग्रज साहित्य पुरस्कार के लिए चुने गये

नासिक। फिल्म निर्देशक और उपन्यासकार वेद राही को साहित्य के कुसुमाग्रज राष्ट्रीय पुरस्कार के लिए चुना गया है। यहां के यशवंतराव चव्हाण महाराष्ट्र मुक्त विद्यापीठ के ‘कुसुमाग्रज राष्ट्रीय साहित्य पुरस्कार’ के तहत एक लाख नकद, स्मृति चिह्न और एक प्रशस्ति पत्र दिया जाता है। विद्यापीठ ने यहां जारी एक बयान में कहा कि शीघ्र ही वह उन्हें एक कार्यक्रम में यह पुरस्कार प्रदान करेगा। यह पुरस्कार ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित मराठी कवि और नाटककार दिवंगत वी वी शिरवाडकर के नाम पर शुरू किया गया था। वह ‘कुसुमाग्रज’ के नाम से लोकप्रिय थे। वर्ष 1933 में जन्में राही ने डोगरी भाषा में कई उपन्यास लिखे। उन्हें 1983 में उनके डोगरी उपन्यास ‘आले’ के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार दिया गया था। उन्होंने हिंदी और ऊर्दू भाषाओं में भी लिखा है। राही ने 2001 में वीर सावरकर फिल्म भी बनायी जो क्रांतिकारी विनायक दामोदर सावरकर के जीवन पर आधारित थी। वह 1991 में टेलीविजन सीरियल ‘गुल गुलशन गुलफाम’ के निर्देशक थे। उन्होंने ‘बेजुबान’, ‘चरस’ और ‘मोम की गुड़िया’ समेत कई बॉलीवुड फिल्मों के लिए संवाद भी लिखे हैं।

This post has already been read 5902 times!

Sharing this

Related posts