भाजपा में शामिल हुए गुर्जर आंदोलन के नेता कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला

नई दिल्ली। राजस्थान में गुर्जर आरक्षण आंदोलन के नेता कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला और उनके बेटे विजय बैंसला ने बुधवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सदस्यता ग्रहण कर ली। कर्नल बैंसला ने कहा कि वह किसी पद के लालच में नही अपितु प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से प्रभावित हैं, इसलिए वह भाजपा में शामिल हुए हैं। यहां भाजपा मुख्यालय में राजस्थान के चुनाव प्रभारी व केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बैंसला और उनके बेटे को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता की पर्ची देकर भाजपा का सदस्य बनाया । जावड़ेकर ने बैंसला और उनके बेटे विजय बैंसला के भाजपा में शामिल होने की घोषणा की। भाजपा की सदस्यता ग्रहण करने के बाद बैंसला ने कहा कि वह पिछले 14 सालों से गुर्जर आरक्षण आंदोलन से जुड़े हैं। इन 14 वर्ष में उन्होंनें राज्य के दोनों मुख्यमंत्रियों (वसुंधरा राजे और अशोक गहलोत) को नजदीक से देखा-समझा है। दोनों दलों (कांग्रेस व भाजपा) की कार्यशैली और विचारधारा को भी देखा है। उन्होंने कहा कि वह भाजपा में इसलिए शामिल हो रहे हैं, क्योंकि वो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से प्रभावित हैं। मोदी साधारण से साधारण आदमी का सुख दुख समझते हैं। बैंसला ने कहा कि उन्हें किसी तरह के कोई पद का लालच नहीं है।
उल्लेखनीय है कि कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला ने अपने करियर की शुरुआत एक अध्यापक के रूप में की थी। उनके पिता फौज में थे जिनके बाद वह भी सेना में भर्ती हो गए। बैंसला राजपुताना राइफल्स में भर्ती हुए। इस दौरान उन्होंने 1962 भारत- पाकिस्तान युद्ध में भी हिस्सा लिया था और युद्ध बंदी भी रहे। सेना से सेवानिवृत्त होने के बाद वह गुर्जर आंदोलन से जुड़े। समझा जा रहा है कि भाजपा बैंसला के पुत्र विजय को राजस्थान की किसी सीट से उम्मीदवार बना कर चुनाव में उतार सकती है।

This post has already been read 6564 times!

Sharing this

Related posts