मुख्यमंत्री ने हूल दिवस पर ट्विट कर वीरों को दी श्रद्धांजलि

रांची। मुख्यमंत्री रघुवर दास ने रविवार अल सुबह ट्विट कर हूल दिवस पर वीरों को श्रद्धांजलि दी है। उन्होंने अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ विद्रोह के प्रतीक “हूल दिवस” पर झारखण्ड के अमर शहीदों सिदो, कान्हू, चांद, भैरव, फूलो, झानो सहित सभी वीरों को शत-शत नमन किया। मुख्यमंत्री ने उन सभी अनाम वीरों के प्रति भी अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की है, जिन्होंने भारत की आज़ादी के हूल में अपने प्राणों की आहुति दी थी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि संथालपरगना सहित समस्त झारखण्ड को समृद्ध और सशक्त बनाना ही सरकार का ध्येय है। झारखण्ड का पर्यावरण सापेक्ष विकास, इसकी भाषा और लिपि, संस्कृति और सांस्कृतिक विरासत की रक्षा के लिए हम सबका साझा प्रतिबद्ध प्रयास ही इन वीरों के प्रति सच्ची श्रद्धाजंलि है। 

उल्लेखनीय है कि झारखंड राज्य के आदिवासियों द्वारा अंग्रेजों के विरुद्ध किए गए विद्रोह को हूल  क्रांति दिवस के रूप में 30 जून को मनाया जाता है । इसे भारतीय इतिहास में स्वाधीनता संग्राम की पहली लड़ाई भी कहा जाता है। 30 जून 1855 ई. को वर्तमान साहिबगंज जिले के भगनाडीह गांव से प्रारंभ हुए इस विद्रोह के मौके पर सिद्धू ने घोषणा की थी करो या मरो अंग्रेजों हमारी माटी छोड़ो।

This post has already been read 5808 times!

Sharing this

Related posts