गलती मानकर रघुवर ने प्रमाणित कर दिया कि उनकी सरकार रही है सुपर-डुपर फ्लॉप : झाविमो

रांची। झारखंड विकास मोर्चा (झाविमो )के केन्द्रीय प्रवक्ता योगेन्द्र प्रताप सिंह ने कहा है कि मुख्यमंत्री ने चतरा की सभा में गलती मानकर खुद ही यह साबित कर दिया है कि झारखंड में उनकी खुद की सरकार सुपर-डुपर फ्लॉप रही है। अगर ऐसा नहीं है तो सीएम माफी मांगने की बजाय डंके की चोट पर अपनी उलब्धियों पर वोट मांगते। सिंह ने गुरुवार को कहा कि साढ़े चार साल के कार्यकाल के दौरान बहुमत और डबल इंजन की इस बड़बोली सरकार ने शायद थोड़ा भी विकास किया होता तो आज उन्हें जनता से अपनी गलतियों की इस प्रकार माफी मांगने की नौबत कतई नहीं आती। अपनी और अपने सांसद की गलती मानकर मुख्यमंत्री ने यह साबित कर दिया कि राज्य में विकास को लेकर किए जा रहे अब तक के तमाम दावे खोखले थे। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने झाविमो सहित तमाम विपक्षी पार्टियों के उस दावे पर भी मुहर लगा दी है कि रघुवर सरकार केवल हवा- हवाई और हाथी उड़ाने वाली सरकार है। राज्य में विकास का एक भी काम नहीं हुआ नहीं हुआ जिसके बलबूते राज्य सरकार जनता से वोट मांग सके। यही कारण है कि रघुवर को जनता से गलती मांगते हुए सब कुछ भूलकर मोदी के नाम पर वोट देने की अपील करनी पड़ रही है। उन्होंने कहा कि अहम सवाल यह है कि जब राज्य में विकास की गंगा बह ही रही है, सीएम खुद राग अलापते हैं कि जितना काम पिछले 14 सालों में नहीं हुआ उससे अधिक उनके कार्यकाल में हुआ है तो फिर मोदी के नाम का सहारा क्यों। क्यों नहीं भाजपा राज्य सरकार की उपलब्धियों को वोट मांगने का पैमाना बनाने की हिम्मत जुटा पा रही है। इसके लिए दृढ़ इच्छाशक्ति और विजन चाहिए जो भाजपा के पास नहीं हैं। सीएम के झांसे में राज्य की जनता नहीं आने वाली है। केवल गलती मान लेने भर से भाजपा सरकार का गुनाह कम होने वाला नहीं है। रघुवर ने झारखंड का कबाड़ा कर दिया है जो अक्षम्य है। जनता इस बार भाजपा का सारा नशा उतार देगी।

This post has already been read 6788 times!

Sharing this

Related posts