रमाकांत सिंह ने जनसंवाद केंद्र में दर्ज जनशिकायतों की साप्ताहिक समीक्षा की

रांची। मुख्यमंत्री सचिवालय के अपर सचिव रमाकांत सिंह ने आज सूचना भवन में जनसंवाद केंद्र में दर्ज जनशिकायतों की साप्ताहिक समीक्षा की। उन्होंने कहा कि राज्य में गोवंश के लिए चारगाह के रूप में चिह्नित गोचर भूमि से अतिक्रमण हटाने के लिए तत्काल कार्रवाई की जाये। पाकुड़ जिले के महेशपुर प्रखंड अंतर्गत खागड़ा गांव के एक व्यक्ति ने गांव की 700 बीघा गोचर भूमि पर कुछ लोगों द्वारा कब्जा कर लिये जाने की शिकायत दर्ज करायी थी। अपर सचिव ने इसपर संबंधित विभाग को निर्देश दिया कि 15 दिनों के अंदर ऐसी जमीनों को अतिक्रमण से मुक्त कराकर रिपोर्ट सौंपें। अतिक्रमण से जुड़ी पूर्वी-सिंहभूम से आयी एक अन्य शिकायत जिसमें सामुदायिक भवन मिथिला सांस्कृतिक परिषद, जमशेदपुर को विद्यापति विद्यालय  के संचालन के लिए दिया गया था। वर्तमान में विद्यालय का संचालन उक्त भवन में नहीं किया जा रहा है लेकिन भवन पर उसका कब्जा बरकरार है। इसपर सरकार के अपर सचिव ने जिला के नोडल अधिकारी को एक सप्ताह के भीतर भवन को खाली करवा कर रिपोर्ट भेजने का निर्देश दिया।  इसी तरह पलामू जिले के तरहसी अंचल मे चौरा मौज़ा स्थित गैरमजरुआ जमीन की फर्जी बंदोबस्त कागजात बनाकर कब्जा करने से जुड़ी शिकायत अपर सचिव ने अतिक्रमण हटाने के लिए कार्रवाई करने और अंचल अधिकारी को मामले की विस्तृत रिपोर्ट भेजने का निर्देश दिया।

पश्चिमी-सिंहभूम जिले की एक शिकायत जिसमें बोंडीह गाँव में 26 अक्टूबर एवं 27 अक्टूबर 2016 को योजना बनाओ अभियान के तहत ग्राम सभा की बैठक पर कई योजनाओं का प्रस्ताव पास किया गया था, लेकिन मुखिया, पंचायत सेवक एवं पंचायत स्वयंसेवक ने प्रखण्ड विकास पदाधिकारी, चक्रधरपुर को सौंपी गयी योजनाओं की सूची में इन योजनाओं को शामिल नहीं किया। इस संबंध में पूछे जाने पर पर जिला के नोडल अधिकारी ने सरकार के अपर सचिव को बताया कि दोषियों के खिलाफ प्रपत्र “क” गठित कर कार्रवाई की जा रही है।

प्रखण्ड कार्यालय, पथना, साहिबगंज में आदेशपाल के पद पर कार्यरत अनिल कुमार दास की कार्यकाल के दौरान 26 अक्तूबर 2008 मृत्यु हो गयी थी। इनके पुत्र लालन कुमार दास ने अनुकंपा में आधार पर नौकरी के लिये 19 अप्रैल 2011 को आवेदन दिया था। अब तक नौकरी नहीं दिये जाने पर जिला के नोडल अधिकारी ने बताया कि ललन कुमार दास ने हिन्दी विद्यापीठ, देवघर से दसवीं पास का प्रमाण जमा किया था। परंतु कार्मिक, प्रसाशनिक सुधार तथा राजभाषा विभाग, झारखंड रांची के पत्रांक 4786, 1-06-2015 के अनुसार सरकारी सेवा में नियुक्ती हेतु हिन्दी विद्यापीठ देवघर द्वारा दिये जाने वाले उपाधियों की स्थायी मान्यता समाप्त कर दी गई है। अतः उपरोक्त परिपेक्ष में ललन कुमार दास का अनुकंपा के आधार पर नियुक्ति संभव नहीं है।

गुमला प्रखंड के मुरकुंडा पंचायत से पंचायत सेवक के पद से 31 जनवरी 2016 को सेवानिवृत्त वंशीधर यादव को अब तक इन्हें सेवानिवृत्ति पेंशन का लाभ नहीं मिलने की शिकायत पर सरकार के अपर सचिव रमाकांत सिंह ने नाराजगी जताते हुए कहा कि यह बेहद अफसोसजनक है। उन्होंने जिला के नोडल अधिकारी को बीडीओ, गुमला से समन्वय स्थापित कर वंशीधर यादव का पेंशन भुगतान यथाशीघ्र शुरू करने का आदेश दिया।

विद्युत आपुर्ति अवर प्रमंडल, गढ़वा की ओर से तरुण भारत सेवा संस्थान (NGO) को फ्रैंनचाईजी दी गई है। उक्त संस्थान में बिजली बिल वसुली का कार्य कर रहे को  रवि शंकर प्रसाद को अगस्त 2015 से मानदेय का भुगतान नहीं किया जा रहा है। इसपर अपर सचिव रमाकांत सिंह ने विभागीय अधिकारी को  ऊर्जा विभाग के फ्रैंनचाईजी से लंबित मानदेय के मामलों को चिन्हित करने एवं जेबीवीएनएल के नोडल अधिकारी से संपर्क कर कार्रवाई करने का निर्देश दिया।

गोड्डा जिले के सुंदर डैम, ललमटिया में 19 जून 2016 को नहाने के उद्देश्य से गये तीन बच्चों निर्मल टूडू (निवासी- महादेव बथान), निशांत मराण्डी, (निवासी- बड़ा सिमरा), अनुदिप सिंह (निवासी- महगामा) के मृत पाये जाने का मामला उठा। इस संबंध में डीएसपी, गोड्डा ने बताया कि बिसरा की जांच रिपोर्ट में यह पता चला कि बच्चों की मृत्यु जहर खाने से हुई थी। इस पर एआईजी टू डीजीपी ने डीएसपी, गोड्डा को यह निर्देश दिया कि एसडीपीओ, महगामा एवं जांच अधिकारी एसपी, गोड्डा से मिलकर मामले की गहन समीक्षा करें। साथ ही उन्होंने अभियुक्त पॉलसम मराण्डी को शीघ्र गिरफ्तार करने का भी आदेश दिया।

श्रम नियोजन एवं प्रशिक्षण विभाग,  रांची में सहायक के पद पर कार्यरत रजनीकान्त श्रीवास्तव ने वर्ष 2007 में ऐच्छिक सेवानिवृति ली थी। सेवानिवृति के पश्चात मई 2008 में सड़क दुर्घटना में इनकी मृत्यु हो गई थी। 8 वर्ष बीत जाने के बावजूद अब तक इनके परिवार को सेवान्त लाभ का भुगतान नहीं किया गया है। इसपर सरकार के अपर सचिव ने विभाग के अधिकारी को 15 दिनों के भीतर  सभी सेवान्त लाभ का भुगतान कराने का आदेश दिया।

चतरा जिले के टंडवा प्रखण्ड के सिरसाई गांव के आंगनबाड़ी केंद्र में पोषण सखी के पद के लिए मेधा सूची में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाली कुमारी किरण ओझा का चयन न कर  उक्त पद पिंकी देवी को नियुक्त किया गया है। इस मामले में पूछे जाने पर जिला के नोडल अधिकारी ने बताया कि शिकायत के आलोक में जांच में पिंकी देवी की नियुक्ति को रद्द कर दी गयी थी एवं उक्त पद के लिए पुनः चयन प्रक्रिया उपायुक्त के स्तर से शुरू की जा रही है। इस मामले की समीक्षा करते हुए अपर सचिव रमाकांत सिंह ने 15 दिनों में मामले का निष्पादन करने का आदेश दिया।

वित्तीय 2011-12 में प्राथमिक कृषि शाखा सहयोग, नुनाजोर, गोड्डा के तत्कालीन अध्यक्ष द्वारा किसानों से खरीदे गए धान का भुगतान अब तक बकाया रखे जाने पर विभाग के अधिकारी ने 15 दिनों के भीतर किसानों को भुगतान करने का आश्वासन दिया।

This post has already been read 18121 times!

Sharing this

Related posts