पुलवामा में आतंकी हमले में जवानों के शहीद होने की घटना से झारखंड में आक्रोश

रांची। जम्मू कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले में 44 जवानों के शहीद होने की घटना पर लोगों का आक्रोश फूट पड़ा है। हर ओर इसकी निंदा हो रही है। देश के हर वर्ग में आक्रोश दिख रहा है। सभी मर्माहत और दुखी हैं तथा बदला लेने की बात कह रहे हैं। खास से लेकर आम लोगों का कहना है कि ऐसी आतंकी घटना के प्रायोजक देश और देशद्रोहियों को किसी कीमत पर छोड़ा नहीं जाना चाहिए। आतंकी घटना से पूरे देश में उबाल है। गुस्से की आग न सिर्फ राजनीतिक दलों में, बल्कि आम लोगों में भी दिख रही है। इस आतंकवादी घटना में झारखंड के गुमला जिले का भी एक सपूत विजय सोरेंग शहीद हुआ है। झारखंड के कोने-काने में हर आम और खास में घटना के विरोध में जगह-जगह विरोध-प्रदर्शन हो रहे हैं। सडकों पर वंदेमातरम और पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाये जा रहे हैं। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री और पाकिस्तान का झंडा फूंके जा रहे हैं। लोग एकजुट होकर एक सूर से पाकिस्तान को सबक सिखाने वाली कार्रवाई की मांग कर रहे हैं। जगह-जगह मशाल जुलूस निकाले जा रहे हैं। जुलूस में युवाओं के साथ ही बच्चे, वद्ध और महिलाएं भी बढ़चढ़ कर हिस्सा ले रही हैं।
झारखंड के लाल को पाकिस्तान ने मरवा दिया है, सरकार सबक सिखाए : किरण
सब्जी, दूध, रिक्शावाले और चाट-खोमचे वाली दुकानों पर राजनीतिक बातें होना आम है, लेकिन अभी पुलवामा की घटना का लोग जिक्र कर रहे हैं और पाकिस्तान को उसी की भाषा में जवाब देने की बात कह रहे हैं। रांची के हिनू चौक पर सब्जी बेचकर किरण अपना घर चलाती है। वह कहती है मुझे बहुत जानकारी तो नहीं है, लेकिन इतना पता है कि देश में कुछ बड़ी घटना हुई है। हमारे झारखंड के एक लाल को पाकिस्तान ने मरवा दिया है। उसने सरकार से ऐसे लोगों को सबक सिखाने की बात कही है।
भारत पाकिस्तान पर हमला करे, बर्दाश्त की सारी सीमाएं खत्म हो गयीः सोहन मुंडा
एटीम पर सुरक्षा गार्ड के रूप में तैनात सोहन मुंडा ने कहा कि भारत को पाकिस्तान पर हमला कर देना चाहिए। बर्दाश्त करने की सारी सीमाएं खत्म हो गयी हैं। ऐसे देशद्रोहियों को चुन-चुन कर मारना चाहिए। फल विक्रेता राजू इस अमानवीय घटना से वह काफी दुखी है। कहता है, पाकिस्तान को सबक अब नहीं तो कब सिखायेगी हमारी सरकार।

This post has already been read 8015 times!

Sharing this

Related posts