ट्रम्प को सीनेट में मुंह की खानी पड़ी, अब वीटो का करेंगे इस्तेमाल

वाशिंगटन। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को रिपब्लिकन बहुल सीनेट में गुरुवार को नेशनल इमरजेंसी के प्रस्ताव पर मुंह की खानी पड़ी। ट्रम्प की अपनी पार्टी के एक दर्जन सिनेटर ने डेमोक्रेटिक पार्टी का साथ दिया और इस तरह दीवार निर्माण के लिए नेशनल इमरजेंसी की पुष्टि किए जाने के प्रस्ताव पर रोक लग गई। डेमोक्रेटिक पार्टी ने एक दर्जन सिनेटर की मदद से रिपब्लिकन पार्टी के प्रस्ताव को 59-41 से रद्द कर दिया। इस प्रस्ताव के समर्थन में रिपब्लिकन को 67 मतों की ज़रूरत थी। इस प्रस्ताव के रद्द होने के चंद मिनट बाद ट्रम्प ने ट्वीट करते हुए पहली बार वीटो इस्तेमाल की घोषणा कर दी। कांग्रेस के निचले सदन प्रतिनिधि सभा में डेमोक्रेटिक बहुल सदन पहले ही नेशनल इमरजेंसी के प्रस्ताव को ख़ारिज कर चुकी है। प्रस्ताव के विरुद्ध और डेमोक्रेट के समर्थन में मत देने वाले रिपब्लिकन सदस्यों में मार्को रुबियो (फ़्लोरिडा), सुसान कोलिंस (माइने), जेरी मोरान (कैंसस), लिसा मरोवासकी (अलास्का), रेंड पाल (केंचुकि), माइक ली (उटाह), लेमार एलेक्जेंडर (टेनेसी) आदि मुख्य हैं। राष्ट्रपति के ट्वीट के बाद डेमोक्रेटिक पार्टी ने अपनी रणनीति घोषित करते हुए कहा है कि वह ट्रम्प की ओर से जैसे ही दीवार निर्माण के लिए धन राशि का उपयोग किया जाएगा, डेमोक्रेट अदालत में मामला ले जाया जायेगा। इससे यह मामला वर्षों तक अदालत में लटका रहेगा।

This post has already been read 544 times!

Sharing this

Related posts