घरेलू चीजें अपनाओ, सेहत बनाओ

फिट रहना हर किसी की चाहत होती है। हालांकि इसके लिए एफर्ट कम ही लोग कर पाते हैं। यहां हम आपको बता रहे हैं कुछ ऐसी चीजों के बारे में जिनकी मदद से आप फिट रह सकते हैं।

सीफूड:- अगर आप हफ्ते में तीन बार मछली खाते हैं, तो आपके झुर्रियां पडऩे के चांस 30 फीसदी कम हो जाते हैं। दरअसल, सीफूड प्रोटीन, मिनरल्स और ओमेगा-3 फैट के मामले में काफी रिच होता है। इसमें मौजूद न्यूट्रिएंटस न सिर्फ आपकी मसल्स को स्ट्रॉन्ग रखते हैं, बल्कि आपकी स्किन को भी स्मूथ बनाते हैं। बेशक, इसके इस्तेमाल से आपके रिंकल्स पडऩे की संभावना कम हो जाती है।

ग्रीन टी:- ग्रीन टी आपकी सेहत के लिए अच्छी रहती है। इसके अंदर ऐसे कंपाउंडस हैं, जो ब्लड शुगर की मदद से एनर्जी देने वाले हार्मोन बनाने में दिमाग की मदद करते हैं। इसलिए अगर कभी भी आप कमजोरी महसूस करें, तो डॉक्टर्स की यही सलाह होगी कि आप बिना देर किए ग्रीन टीन का प्याला थाम लें। इससे आपको एनर्जी मिलेगी और सेहत भी बढिय़ा रहेगी।

अखरोट:- कार्डियोलॉजिस्ट का मानना है कि अगर आप हार्ट की बीमारियों से बचना चाहते हैं, तो रोजाना कम से कम पांच-छह अखरोट खाने चाहिए। यकीन मानिए इससे आपकी उम्र कम से कम साढ़े तीन साल बढ़ जाएगी। जी हां, अखरोट न सिर्फ खाने में टेस्टी लगते हैं, बल्कि ये आपकी हेल्थ के लिहाज से भी अच्छा ऑप्शन है।

हल्दी:- बहुत कम लोग जानते हैं कि मसाले के तौर पर इस्तेमाल की जाने वाली हल्दी को अपनी डाइट में शामिल किए जाने से आपकी याददाश्त 30 फीसदी तक बेहतर हो जाती है। दरअसल, हल्दी में पाया जाने वाला इंग्रीडिएंट कुरकुमीन अब तक खोजे गए सबसे बेहतरीन एंटीऑक्सिडेंट्स में से एक माना जाता है, जो कि दिमाग को बेहतर बनाते हैं।

नींद:- क्या आपको लगातार सिरदर्द, कमर दर्द, जॉइंट पेन या फिर दूसरे तरीके के दर्द रहते हैं? परेशान मत होइए और जाकर सो जाइए। स्टडीज में बताया गया है कि अगर आप रोजाना के मुकाबले थोड़ा ज्यादा सोने लगें, तो एक महीने के भीतर आपके तमाम तरह के दर्द की प्रॉब्लम आधी रह जाएगी। दरअसल, सोते वक्त आपकी बॉडी में हार्मोन का प्रॉडक्शन ज्यादा होता है, जिससे बॉडी को डैमेज टिश्यूज को रिपेयर करने का ज्यादा वक्त मिल जाता है।

दालचीनी:- अगर आपको ब्लड प्रेशर की प्रॉब्लम रहती है, तो दालचीनी आपके लिए बढिय़ा ऑप्शन है। अगर आप अपनी रोजाना डाइट में आधा चम्मच दालचीनी शामिल कर लें, तो आपकी ब्लड शुगर 29 फीसदी कंट्रोल हो जाती है। बेशक, यह बीपी कंट्रोल करने का एक नेचरल तरीका है।

वेजिटेरियन:- अगर आप वेजिटेरियन फूड से दूर भागते हैं, तो आपके लिए संभल जाने का वक्त आ गया है। एक्सपट्र्स की अगर मानें, तो वेजिटेरियन फूड इम्युनिटी बढ़ाने के लिहाज से बेहतर होता है। इससे न सिर्फ आपको फूड जल्दी डाइजेस्ट करने में मदद मिलेगी, बल्कि आपके बीमारियों से लड़ऩे वाले सेल्स भी डिवेलप होंगे।

शहद:- अनपाश्च्युराइड शहद में नेचरल एंटीबायोटिक्स होते हैं, जो कि आपकी हेल्थ को बेहतर बनाए रखने में मदद करते हैं। एक्सपट्र्स की अगर मानें, तो अगर आप शहद खाते हैं, तो आप अपनी बीमारी के तीन दिन कम कर सकते हैं। इसके अलावा, यह साइनस और दूसरी कोल्ड से जुड़ी बीमारियों को दूर करने में भी आपकी मदद करता है।

This post has already been read 380519 times!

Sharing this

Related posts