केरला के दिव्य करूणा ट्रस्ट ने इटखोरी के अर्धविक्षिप्त को दो साल बाद घर पंहूचाया

इटखोरी(चतरा):  28 जनवरी को केरला के दिव्य करूणा ट्रस्ट के अधिकारीयों ने इटखोरी प्रखंड के हलमता पंचायत अंतर्गत राजबर गांव के 55 वर्षीय गुम अर्धविक्षिप्त खेलावन भुइयां को दो साल इलाज के बाद उसे घर पंहुचा दिया। ट्रस्ट के प्रमुख स्टीला सीएसएन ने बताया कि खेलावन अपने घर से सात साल पहले गुम हो गया था। वह दो साल पहले हमलोगों को केरला में भटकते हुए मिला था। इसके बाद हमलोग उसे दो साल अपने साथ रखकर उसका समुचित इलाज कराया और ठीक होने के बाद उसे इटखोरी थाना के सहयोग से राजबर पंहुचाकर उसके परिजनों को सौंप दिया। स्टीला ने बताया कि हमारी ट्रस्ट इसी तरह की सामाजिक कार्य पिछले कई सालों से लगातार कर रही है। इधर खेलावन के परिजनों ने बताया कि अगर यह संस्था नहीं होती तो मेरे घर के खोए अभिभावक आज सकुशल घर नहीं लौटते। मौके पर थाना प्रभारी अशोक राम एवं स्टीला के टीम में शामिल इलिजा बेथ आदि मौजुद थे।

This post has already been read 9474 times!

Sharing this

Related posts