काम का तरीका बदलते रहना जरूरी : इंद्र कुमार

मुंबई। निर्देशक इंद्र कुमार ने कहा है कि अगर कोई फिल्म जगत में बने रहना चाहता है तो उसे अपना अंदाज बदलते रहना चाहिए। इंद्र कुमार ने ‘दिल’ और ‘बेटा’ जैसी रोमांटिक फिल्मों से अपने कैरियर की शुरूआत की थी। हालांकि उन्होंने बाद में हास्य पर आधारित ‘धमाल‘ और ‘मस्ती’ श्रृंखला की फिल्मों का निर्माण किया। कुमार ने  बताया, ‘‘बने रहना है। अगर आपको बने रहना है तो आपको बदलना होगा। मैंने प्रख्यात गीतकार श्यामलाल बाबू राय और इंदीवर से पेशेवर तरीका सीखा है। जो कहते थे कि लोगों को हर पांच या दस सालों में खुद को बदलना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘‘मैंने उनसे सीखा कि मुझे अपनी कार्यशैली से नाता तोड़ लेना चाहिए। आप एक तरह की फिल्में बना कर दस से 12 साल तक बने रहे सकते हैं लेकिन उसके बाद मैं चुकने लगा। ऐसे में मैं ‘मस्ती’ और ‘धमाल’ श्रृंखला की फिल्में लेकर आया। इन दोनों श्रृंखला की फिल्मों को बॉक्स ऑफिस पर सफलता तो मिली लेकिन आलोचकों ने इसकी सकारात्मक तारीफ नहीं की। कुमार का कहना है कि नकारात्मक आलोचनाओं से वह परेशान नहीं होते। धमाल श्रृंखला की तीसरी फिल्म ‘टोटल धमाल’ में रितेश देशमुख, अरशद वारसी, आशीष चौधरी और जावेद जाफरी के अलावा अजय देवगन, अनिल कूपर और माधुरी दीक्षित नेने मुख्य भूमिका में नजर आएंगे। यह फिल्म 22 फरवरी को सिनेमा घरों में प्रदर्शित होगी।

This post has already been read 8601 times!

Sharing this

Related posts