इजराइली सेना गाजा में हमास की दमघोंटू सुरंग में दाखिल, हिजबुल्लाह के ठिकानों पर भी धावा

तेल अवीव। गाजा में फिलिस्तीन के आतंकवादी संगठन हमास और इजराइल के मध्य छिड़े युद्ध को तीन माह से ज्यादा का समय हो चुका है। इस युद्ध की वजह से दुनिया के प्रमुख राष्ट्र दो धड़ों में बंट चुके हैं। इस घमासान के बीच इजराइल की सेना हमास की एक महत्वपूर्ण सुरंग में दाखिल होने में कामयाब हो गई। यह वही सुरंग है, जहां हमास के आतंकवादियों ने पिछले साल सात अक्टूबर बंधक बनाए इजराइलियों में से कुछ को रखा था।

प्रमुख समाचार पत्र द टाइम्स ऑफ इजराइल की रिपोर्ट के अनुसार, इजराइल डिफेंस फोर्सेज (आईडीएफ) ने इस सुरंग के कई फोटो 20 जनवरी को जारी किए । आईडीएफ ने कहा है कि सुरंग की लंबाई लगभग 830 मीटर (आधा मील) है। इसे जमीन से 20 मीटर (66 फीट) नीचे खोदा गया था। इसमें एक केन्द्रीय स्थान के साथ पांच वर्जित कक्ष भी थे। यहां बीस बंधकों को रखा गया है। सुरंग के प्रवेश द्वार पर कई बंदूकधारियों से मुकाबला करना पड़ा। लेकिन अब वहां कोई बंधक नहीं था। सुरंग का प्रवेश द्वार हमास आतंकवादी के घर के अंदर से था।

आईडीएफ ने कहा है कि इस सुरंग में बंधकों को “कठोर और अमानवीय परिस्थितियों में” रखा गया। सुरंग में मिली वस्तुओं में पांच वर्षीय एमिलिया अलोनी के चित्र भी शामिल हैं। इसे नवंबर में अस्थायी युद्धविराम के दौरान छोड़ दिया गया था। आईडीएफ के अनुसार 18 जनवरी को खान यूनिस में सक्रिय हमास के लगभग 40 आतंकवादियों को मार गिराया गया। सैनिकों ने एक आतंकवादी के आवास पर छापा मारकर दस ग्रेनेड, एके-47 राइफल, सैन्य उपकरण और नक्शे बरामद किए हैं।

आईडीएफ सैनिकों ने उत्तरी गाजा में दो सशस्त्र आतंकवादियों को मार गिराया। इजराइल के सैन्य प्रवक्ता रियर एडमिरल डेनियल हगारी ने कहा है कि सैनिकों ने सुरंग में प्रवेशकर वहां मौजूद आतंकवादियों को ढेर कर दिया। द टाइम्स ऑफ इजराइल की रिपोर्ट के अनुसार,आईडीएफ ने पहले के हमलों के जवाब में दक्षिण लेबनान में हिजबुल्लाह के कई ठिकानों पर हमला किया है। इस बीच इराक में अमेरिकी हवाई अड्डे पर कई बैलिस्टिक मिसाइलें और रॉकेट दागे गए हैं। इससे कई लोग घायल हुए हैं।

This post has already been read 2305 times!

Sharing this

Related posts