आम चुनाव 2024: देश में कुल 96.88 करोड़ पंजीकृत मतदाता

पुरुष मतदाता 49 करोड़ 72 लाख 31 हजार 994
महिला मतदाता 47 करोड़ 15 लाख 41 हजार 888
तृतीय लिंग मतदाता 48 हजार 44
दिव्यांग मतदाता 88 लाख 35 हजार 449

नई दिल्ली। चुनाव आयोग ने आगामी आम चुनावों के लिए मतदाता सूची को अपडेट कर लिया है। आयोग के अनुसार देश में कुल 96.88 (96 करोड़ 88 लाख 21 हजार 926) करोड़ पंजीकृत मतदाता हैं। दुनिया में सबसे बड़ी यह मतदाता संख्या तय करेगी कि देश में अगली सरकार किसकी होगी। आयोग के अनुसार 1 जनवरी, 2024 की अर्हता तिथि के साथ महीनों लंबे गहन विशेष सारांश संशोधन 2024 (एसएसआर 2024) अभ्यास के बाद आम चुनाव 2024 से पहले देश भर के सभी राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों में मतदाता सूची प्रकाशित कर दी गई है। इसमें निर्वाचन क्षेत्रों के परिसीमन के बाद जम्मू-कश्मीर और असम में मतदाता सूचियों के पुनरीक्षण भी शामिल हैं।
आयोग की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार 2019 के चुनावों में 89.6 करोड़ मतदाता पंजीकृत थे। इस बार महिला मतदाता पंजीकरण में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है। इनकी संख्या 43.1 करोड़ से बढ़कर 47.1 करोड़ हो गई है। मतदाता सूची में 2.63 करोड़ से अधिक नए मतदाताओं को शामिल किया गया है। इनमें से लगभग 1.41 करोड़ महिला मतदाता हैं। यह नए नामांकित पुरुष मतदाताओं ( 1.22 करोड़) से 15 प्रतिशत अधिक हैं। लिंग अनुपात 2023 में 940 से बढ़कर 2024 में 948 हो गया है। 18-19 और 20-29 आयु वर्ग के 2 करोड़ से अधिक युवा मतदाताओं को मतदाता सूची में जोड़ा गया है। आयोग का कहना है कि सत्यापन के बाद 1 करोड़ 65 लाख 76 हजार 654 मृतकों और स्थायी रूप से स्थानांतरित और डुप्लीकेट मतदाताओं के नाम मतदाता सूची से हटा दिए गए हैं। इनमें 67 लाख 82 हजार 642 मृत मतदाता, 75 लाख 11 हजार 128 स्थायी रूप से स्थानांतरित/अनुपस्थित मतदाता और 22 लाख 5 हजार 685 डुप्लीकेट मतदाता शामिल हैं। आयोग के अनुसार पुरुष मतदाता 49 करोड़ 72 लाख 31 हजार 994 और महिला मतदाता 47 करोड़ 15 लाख 41 हजार 888 हैं। तृतीय लिंग मतदाता 48 हजार 44 और दिव्यांग मतदाता 88 लाख 35 हजार 449 हैं। 18-19 आयु वर्ग के तहत 1 करोड़ 84 लाख 81 हजार 610 मतदाता हैं जबकि 20-29 आयु वर्ग के तहत 19 करोड़ 74 लाख 37 हजार 160 मतदाता हैं। 80 वर्ष से अधिक आयु वाले 1 करोड़ 85 लाख 92 हजार 918 मतदाता हैं।100 साल से अधिक आयु वाले मतदाताओं की संख्या 2,38,791 है। मतदाता-जनसंख्या (ईपी) का अनुपात 66.76 प्रतिशत है।।

This post has already been read 2081 times!

Sharing this

Related posts