जेट एयरवेज में हिस्सेदारी बेचने के लिए छह को लगेगी बोली

नई दिल्ली। नकदी की समस्‍या से जूझ रही और कर्ज में डूबी जेट एयरवेज कंपनी में हिस्‍सेदारी ब्रिकी के लिए शनिवार को बिड आमंत्रित किए जाएंगे। इस बीच शुक्रवार को नागर विमानन सचिव प्रदीप सिंह खरोला ने कहा है कि निजी क्षेत्र की विमानन कंपनी जेट के सिर्फ 26 विमान फिलहाल परिचालन में हैं, इसलिए फिलहाल वह इंटरनेशनल उड़ानों के सभी मानदंडों को पूरा करती है। उल्लेखनीय है कि एसबीआई की अगुवाई में कर्जदाताओं के ग्रुप ने नकदी के संकट से जूझ रही जेट एयरवेज की मौजूदा स्थिति का जायजा लिया। उसके बाद हिस्सेदारी बिक्री के लिए समय-सीमा निर्धारित की गई। जेट एयरवेज को कर्ज देने वाले फाइनेंशियल ग्रुप ने कहा है कि बिड छह अप्रैल को आमंत्रित की जाएगी और उसे जमा करने की अंतिम तारीख नौ अप्रैल होगी। बयान के मुताबिक कर्जदाताओं को पता है कि इस प्रयास का परिणाम कंपनी में शेयर की बिक्री पर पार्टियों के इंटरेस्ट पर निर्भर करेगा। साथ ही यह भी कहा गया है कि शेयर की बिक्री के लिए हर संभव प्रयास किए जाएंगे, लेकिन अगर इनका कोई एक्सेप्टेड रिजल्ट नहीं आता है तो दूसरे विकल्पों पर विचार किया जाएगा। फिलहाल, कर्ज समाधान योजना के तहत ही बैंकों ने जेट एयरलाइन को अपने नियंत्रण में ले लिया है। जेट एयरवेज पर करीब 8,500 करोड़ रुपये का कर्ज है। बैंकों ने साफ कर दिया था कि जब तक ठोस प्लान सामने नहीं आता, नया कर्ज नहीं मिलेगा। जेट एयरवेज में यूएई की एतिहाद एयरलाइंस की 24 परसेंट हिस्सेदारी है।

This post has already been read 5053 times!

Sharing this

Related posts