झारखंड संयुक्त असैनिक सेवा प्रारंभिक परीक्षा-2021 के गाइड लाइन. जाने…

केन्द्र अधीक्षकों, जोनल/स्टैटिक मजिस्ट्रेट की ब्रीफिंग
केंद्र अधीक्षकों को उपायुक्त ने दिए आवश्यक दिशा-निदेश
कोरोना गाइडलाइंस का पूरी तरह से करें अनुपालन - उपायुक्त

19 सितंबर 2021 को झारखंड राज्य सेवा आयोग, रांची द्वारा आयोजित झारखंड संयुक्त असैनिक सेवा प्रारंभिक परीक्षा-2021 के सफल संचालन को लेकर आज दिनांक 16 सितंबर 2021 को उपायुक्त रांची श्री छवि रंजन की अध्यक्षता में रांची के विभिन्न परीक्षा केंद्राधीक्षकों एवं जोनल/स्टैटिक मजिस्ट्रेट की ब्रीफिंग की गयी।

झारखंड संयुक्त असैनिक सेवा प्रारंभिक परीक्षा-2021 में क्या क्या रहेगी पाबन्दी

मोरहाबादी स्थित श्यामा प्रसाद मुखर्जी विश्वविद्यालय सभागार में आयोजित ब्रीफिंग में उपविकास आयुक्त रांची श्री विशाल सागर, अपर जिला दंडाधिकारी विधि व्यवस्था, रांची श्री उत्कर्ष गुप्ता, अनुमंडल पदाधिकारी सदर रांची, श्री दीपक दुबे, परीक्षा नियंत्रक, जेपीएससी श्री एम. खान सहित रांची के विभिन्न परीक्षा केन्द्राधीक्षक एवं जोनल/स्टैटिक मजिस्ट्रेट उपस्थित थे। ब्रीफिंग के दौरान उपायुक्त द्वारा कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए जारी दिशा निर्देशों के अनुपालन के साथ परीक्षा संपन्न कराने का निदेश दिया गया।

झारखंड में अनलॉक को लेकर बड़ा एलान जाने क्या खुला है और क्या बंद

कोरोना दिशा निर्देशों का पूरी तरह से करें पालन- उपायुक्त

ब्रीफिंग के दौरान उपायुक्त श्री छवि रंजन ने कहा कि परीक्षा संचालन के लिए झारखंड राज्य सेवा आयोग, रांची द्वारा कोविड-19 के मद्देनजर जो दिशा निर्देश दिये गये हैं उनका पूरी तरह से सभी परीक्षा केन्द्रों में अनुपालन सुनिश्चित करें।

‘सैनिटाइजेशन, थर्मल स्क्रीनिंग, सोशल डिस्टेंसिंग की व्यवस्था करें’

उपायुक्त श्री छवि रंजन ने ब्रीफिंग के दौरान सभी केंद्र अधीक्षकों को कहा कि परीक्षा देने आनेवाले छात्रों की थर्मल स्क्रीनिंग की व्यवस्था करें। केंद्रां में छात्रों के प्रवेश के लिए सोशल डिस्टेंसिंग के अनुपालन की व्यवस्था और सैनिटाजेशन का भी निदेश उन्होंने दिया। श्री रंजन ने कहा कि परीक्षा के दौरान कुछ ऐसे छात्र भी हो सकते हैं जिनके पास मास्क ना हो, ऐसी स्थिति में सभी केंद्र को मास्क रिजर्व रखना है और बिना मास्क के छात्रों को मास्क उपलब्ध कराकर परीक्षा केन्द्र में प्रवेश देना है। उन्होंने कहा कि परीक्षा संचालन में लगे कर्मी भी अपनी सुरक्षा का पूरा ध्यान रखें। छात्रों के बीच मास्क लगाकर रहें ताकि संक्रमण का खतरा कम हो।

प्यार या धोखा, आखिर क्यों चलानी पड़ी सिपाही को अपनी ही प्रेमिका पर गोली, जानें पूरा मामला

सिंप्टोमेटिक मरीज के लिए करें अलग व्यवस्था- डीसी

थर्मल स्क्रीनिंग के दौरान अगर कोई छात्र सिंप्टोमैटिक मिलता है तो इसके लिए अलग से व्यवस्था सुनिश्चित करने का निदेश उपायुक्त ने दिया। उन्होंने कहा कि सभी केन्द्र अधीक्षक ऐसे छात्रों के लिए समुचित व्यवस्था करें। संक्रमण के लक्षण पाये जाने पर ऐसे छात्रों के लिए ऑक्सीमीटर भी रखें ताकि ऑक्सीजन लेवल की मॉनिटरिंग की जा सकें। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण के दौरान सुरिक्षत तरीके से परीक्षा संपन्न हो, ये हम सबकी जिम्मेवारी है। छात्रों को किसी तरह की परेशानी न हो, ये हमारा नैतिक कर्तव्य है।

समय का विशेष ध्यान रखें : उपायुक्त

ब्रीफिंग के दौरान उपायुक्त श्री छवि रंजन ने कहा कि उम्मीदवारों को प्रश्न पत्र, ओएमआर शीट आदि समय पर मिले इसका विशेष ध्यान रखें। उन्होंने कहा कि परीक्षा के दौरान समय बेहद कीमती होता है, उम्मीदवारों को परीक्षा के लिए निर्धारित पूरा समय मिले इसके लिए जरुरी हैं कि सभी कार्य समय पर पूरा किया जाये।

ब्रीफिंग के दौरान एडीएम लॉ एंड ऑर्डर एवं परीक्षा नियंत्रक जेपीएससी श्री एम खान ने केन्द्राधीक्षकों को परीक्षा के सफल संचालन से संबंधित हर बिन्दु की विस्तार से जानकारी दी एवं उनके प्रश्नों का जवाब भी दिया। एडीएम लॉ एंड ऑर्डर ने बताया कि परीक्षा केन्द्र के बाहर क्राउड मैनेजमेंट को लेकर दंडाधिकारी और पुलिस बलों की तैनाती भी की गयी है।

This post has already been read 8706 times!

Related posts