झारखंड के अमर वीर सेनानी ‘धरती आबा’ बिरसा मुंडा

लेखक : चंदन मिश्र देश आजादी की 75 वीं वर्षगांठ मना रहा है। सरकार ने इसे अमृत महोत्सव की संज्ञा दी है। यह अवसर है जब देश की आजादी के 75 साल पूरे होने की असली खुशी को हर नागरिक हृदयंगम करे। देश की वर्तमान पीढ़ी ने आजादी की लड़ाई तो देखी नहीं है, लेकिन आजादी दिलानेवाले देश के वीर सेनानियों के बारे में जरूर पढ़ा और सुना है। अपने देश के हर प्रांत में ऐसे कई वीर सपूत हुए हैं, जिन्होंने आजादी की लड़ाई में अपना सर्वस्व न्योछावर कर…

Read More

क्या तालिबान में अकेले इतनी ताकत थी कि वह देखते-देखते देश पर कब्जा कर लेता?

(लेखक-सिद्वार्थ शंकर) अफगानिस्तान में तालिबान के शासन के बाद यह तो साबित हो गया है कि उसमें अकेले इतनी ताकत नहीं थी कि वह देखते-देखते देश पर कब्जा करने की सोचता। तालिबान की इस मंशा को पाकिस्तान ने हवा दी और आगे बढऩे का हौसला दिया। पाकिस्तान को लगता है कि अफगानिस्तान में तालिबान को काबिज कर वह भारत के खिलाफ अपनी लड़ाई में भारी पड़ सकता है। कुछ लोग इस राय से जुदा होंगे, लेकिन आज अफगानिस्तान के हालात पर पाकिस्तान में जिस तरह से खुशी जताई जा रही…

Read More

सरकार आप तो ऐसे न थे…

मैथिली में एक कहावत है “मन हरखित तं गावी गीत”. अर्थ सहज है कि मन प्रफुल्लित हो तो गाने का मूड बनता है… हेमंत जी, आप झारखंड के मुख्यमंत्री हैं. आपकी विनम्रता मिश्रित राजनीतिक कौशल का मैं कायल हूँ, यह लिखने में भी मुझे गुरेज़ नहीं. किन्तु आज आप के लिये सरकार शब्द का संबोधन भारी मन से कर रहा हूँ. जब आप अभियंत्रण के छात्र थे, उस वक़्त से आपके संयम, विनम्रता और अन्तर्मुखी व्यक्तित्व का अवलोकन करता आ रहा हूँ. आपके स्वर्गीय अग्रज दुर्गा सोरेन जी से भी…

Read More

न तो कद्दू कटेगा और न बंटेगा…

झारखंड के हालिया सियासी तूफान और महागठबंधन के तार-तार होते रिश्ते को शायर सागर ख़य्यामी ने निम्न पंक्तियों में बरसों पहले बयां कर दिया था –कितने चेहरे लगे हैं चेहरों पर क्या हक़ीक़त है और सियासत क्या?जी हाँ, विधायकों की खरीद फरोख्त कर सत्ता में उलटफेर का फेरा कई सियासी खिलाड़ियों को भारी पड़ने वाला है. औरों की तो छोड़ दीजिये कुर्बानी की बकरीद मना रहे झारखंड कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष व जामताड़ा विधायक डा. इरफान अंसारी ने तो कतई नहीं सोचा होगा कि उनकी विश्वसनीयता ही कुर्बान हो जायेगी.…

Read More

‘मैं एक जुनूनी खिलाड़ी हूं।’ मिल्खा सिंह की कहानी

नई दिल्ली । ‘मैं एक जुनूनी खिलाड़ी हूं।’ मिल्खा सिंह अक्सर यह बात दोहराते थे। अब उनका जुनून कहानियों के रूप में हमारे बीच रहेगा। मिल्खा की कहानियां हमें महान कार्य के लिए हमेशा प्रेरित करती रहेंगी। आखिर कौन जानता था कि महज एक गिलास दूध के लिए सेना की दौड़ में शामिल होने वाला नवयुवक एक दिन दुनिया का महान धावक बनेगा! लेकिन यह बात सच साबित हुई। मिल्खा सिंह ने इतिहास रच कर दिखाया। मिल्खा की रफ्तार से दुनिया पहली बार कार्डिफ राष्ट्रमंडल खेलों में परिचित हुई। वहीं…

Read More

ओलंपिक के एथलीटों के प्रति तत्परता दर्शाती है “एथलीट फर्स्ट” की प्रतिबद्धता

वीरेन रस्किन्हा करीब एक महीने पहले विनेश फोगट असमंजस में थीं। भारत की प्रसिद्ध पहलवान बुल्गारिया स्थित अधिक ऊंचाई वाले प्रशिक्षण शिविर से भारत लौटना चाहती थीं, लेकिन वापस आने की इस योजना को कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर ने विफल कर दिया। भारत से आने-जाने वाली उड़ानें रद्द हो रही थीं। यूरोप की यात्रा के लिए वीजा मिलना कठिन होता जा रहा था। ऐसे में उनके साथी के रूप में निरंतर मौजूद थी तो केवल अनिश्चितता। इससे भी खराब स्थिति तब आयी जब उन्होंने अपना बेस हंगरी के बुडापेस्ट…

Read More

जीवन-रक्षा सबका कर्तव्य है

गिरीश्वर मिश्र कोविड विषाणु से उपजी महामारी के अप्रत्याशित प्रकोप ने आज सबको हिलाकर रख दिया है। इसके पहले स्वास्थ्य की विपदाएं स्थानीय या क्षेत्रीय विस्तार तक सीमित रहती थीं पर कोवड-19 से उपजी स्वास्थ्य की समस्या विश्वव्यापी है। उसकी दूसरी लहर पूरे भारत पर ज्यादा ही भारी पड़ रही है। आज कोविड की सुनामी में कई-कई लाख लोग प्रतिदिन इसकी चपेट में आ रहे हैं और सारी व्यवस्थाएं तहस-नहस हो रही हैं। कोविड के प्रसार और जीवन के तीव्र नाश की कहानी दिल दहलाने वाली होती जा रही है।…

Read More

भारत का यश, अब मंगल पर होगा वश

ऋतुपर्ण दवेभारत दुनिया का इकलौता देश है जो अपने मंगल मिशन में पहली ही कोशिश में पूरी तरह से कामयाब रहने के साथ सबसे सस्ता अभियान पूरा करने वाला देश बन गया। वहीं अब नासा ने एक भारतवंशी के द्वारा बनाए गए हेलीकॉप्टर को न केवल मंगल ग्रह पर पहुँचाया बल्कि 23 करोड़ किमी दूर धरती पर बैठे-बैठे उड़ाकर दिखाने का सपना भी सच साबित कर दिखाया। इसी 18 फरवरी को 7 माह की लगातार यात्रा के बाद पर्सिवरेंस मार्स रोवर को रात करीब 2.30 बजे मंगल ग्रह के जेजेरो…

Read More

आखिर क्यों हो रही है रेमडेसिविर के लिए मारामारी ?

योगेश कुमार गोयलकोरोना की दूसरी लहर भारत में इतना भयानक रूप धारण कर चुकी है कि दिल्ली हाईकोर्ट को कहने पर विवश होना पड़ा है कि यह दूसरी लहर नहीं बल्कि सुनामी है और अगर हालात ऐसे ही चलते रहे तो अनुमान लगाए जा रहे हैं कि अगले कुछ महीनों के भीतर मौतों का कुल आंकड़ा लाखों में पहुंच सकता है। इन दिनों कोविड संक्रमण के प्रतिदिन साढ़े तीन लाख से ज्यादा नए मामले सामने आ रहे हैं और हजारों लोगों की रोजाना मौत हो रही हैं। यही कारण है…

Read More

ऑक्सीजन पर राजनीति नहीं, परस्पर सहयोग जरूरी

सियाराम पांडेय ‘शांत’इस विषम कोरोनाकाल में प्राणवायु के संकट पर भी राजनीति तेज हो गई है। हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल बिज ने आरोप लगाया था कि दिल्ली ने उसका ऑक्सीजन से भरा टैंकर लूट लिया है। इसके बाद दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसौदिया ने हरियाणा और उत्तर प्रदेश सरकारों को भी आरोपों के कटघरे में खड़ा कर दिया। उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्र से दिल्ली के लिए आवंटित ऑक्सीजन की आपूर्ति में हरियाणा और उत्तर प्रदेश अवरोध पैदा कर रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा है कि दिल्ली के…

Read More