4130 मीटर ऊंचे अन्नपूर्णा बेस कैंप की ट्रैकिंग पर जाएंगे रांची के नौ लोग

टीम में कुल 14 सदस्य, तीन दिसंबर से शुरू होगी चढ़ाई, डेढ़ महीने से कठिन तैयारी में जुटे हैं सभी सदस्य,पर्वतारोही सत्यरूप सिद्धांत हैं टीम लीडर।

Ranchi: नेपाल में स्थित दुनिया के 10 वें सबसे ऊंचे पर्वत समूह अन्नपूर्णा बेस कैंप की ट्रैकिंग के लिए 14 लोगों की टीम अपनी तैयारी पूरी कर चुकी है। यह टीम तीन दिसंबर से बेस कैंप की चढ़ाई शुरू करेगी। 4130 मीटर ऊंचे इस अन्नपूर्णा बेस की ट्रैकिंग सामरूंग से शुरू होगी। 14 लोगों की इस टीम में रांची शहर से अकेले नौ लोग शामिल हैं। टीम में सबसे अधिक उम्र 56 वर्ष के शख्स राजीव गुप्ता और प्रवीण राजगढ़िया हैं। जबकि सबसे कम उम्र की प्रतिभागी 16 साल की रिया कोच्चीकर हैं।

टीम में रांची के राजीव गुप्ता, प्रवीण राजगढ़िया, तुहिनिका प्रसाद, श्रवण कुमार अग्रवाल, सत्यरूप सिद्धांत, संजय कुमार यादव, नंदिनी श्रवण अग्रवाल, ब्रजेश कुमार, अमित मोदी, राहुल राजगढ़िया शामिल हैं। अन्नपूर्णा बेस कैंप अपनी चुनौतियों, खूबसूरत वादियों और रंग-बिरंगी फूलों के लिए प्रसिद्ध है। यहां ट्रेकिंग के लिए प्रत्येक वर्ष हजारों की संख्या में वे लोग पहुंचते हैं, जिन्हें माउंटेनिंग में रुचि होती है।

प्रसिद्ध पर्वतारोही सत्यरूप हैं टीम लीडर।
ट्रैकिंग टीम के लीडर प्रसिद्ध पर्वतारोही व गिनीज बुक रिकॉर्ड होल्डर सत्यरूप सिद्धांत हैं। इनकी अगुवाई में ही सभी लोग अन्नपूर्णा बेस कैंप की यात्रा करेंगे। आइडिएट इंस्पायर इग्नाइट फाउंडेशन के डायरेक्टर व टीम के सदस्य राजीव गुप्ता ने बताया कि बीते 20 अगस्त को रांची में एवरेस्ट समिट कराया गया था। इस समिट से ही सभी इस कठिन यात्रा के लिए मोटिवेट हुए हैं। हमारी कोशिश है कि रोमांचकारी और साहसिक गतिविधियों के माध्यम से झारखंड में भी ट्रैकिंग को बढ़ावा दे सकें। प्रकृति हमें बहुत कुछ सिखाती है।

कठिन तैयारी से गुजरे हैं टीम के सदस्य।
4130 मीटर ऊंचे अन्नपूर्णा बेस कैंप की चढ़ाई के लिए टीम के प्रत्येक सदस्य का हौसला बुलंद है। रांची के सभी सदस्यों ने इस कठिन चुनौती के लिए खुद को शारीरिक और मानसिक तौर पर तैयार करने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। पिछले करीब डेढ़ महीने से सभी लोग रांची के पहाड़ी मंदिर की सीढ़ियों को कई-कई बार चढ़ रहे हैं। इसके अलावा हुंडरू फॉल की सीढ़ियों पर दौड़कर चढ़ते हुए एवं कांके डेम पर मॉर्निंग वाक कर अपनी तैयारियों को पुख्ता बनाया है। टीम मेम्बर प्रवीण राजगढ़िया ने कहा कि हमने अपनी तैयारी में कोई कमी नहीं रखी है। हम जानते हैं कि बुलंद हौसले और बेहतर तैयारी के बूते किसी भी चुनौती को पर किया जा सकता है ।
अन्नपुर्णा बेस कैम्प के इस प्रवतारोही दल को रांची साईकल मेयर कनिष्क पोद्दार एवं सायबर पीस की शुभांगी झंडा दिखला विदाई देंगे ।

इस अभियान को सफल बनाने में आइडिएट इंस्पायर इग्नाइट फाउंडेशन और साइबर पीस फाउंडेशन का संयुक्त योगदान है।

This post has already been read 3105 times!

Sharing this

Related posts