14 वर्ष के संसाधनों से ही 4 वर्ष में विकास के कार्य हुए, जो वादा किया, पूरा कियाः रघुवर

मुख्यमंत्री ने किया कुल 1527 करोड़ की रांची रिंग रोड फेज 7 का उद्घाटन, रांची पेयजलापूर्ति योजना एवं स्मार्ट सिटी आधारभूत संरचना से संबंधित योजनाओं का शिलान्यास

रांची। मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि राज्य गठन के बाद भी सरकार थी, संसाधन थे, लेकिन हम विकास के बाट जोह रहे थे। 4 वर्ष पूर्व जब वर्तमान सरकार बनी तो हमने इन चुनौतियों को सुअवसर के रूप में लिया और राज्य को विकास के पथ पर अग्रसर करने का प्रयत्न किया। उस प्रयत्न का परिणाम है जिस रिंग रोड निर्माण कार्य का मैंने शिलान्यास किया था आज उसका उद्घाटन भी कर रहा हूं। वर्तमान सरकार जनता से झूठा वादा नहीं करती है। सरकार जो कहती है वह करती है। रातू की जनता से मैंने वादा किया था कि रिंग रोड को जोड़ने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग में एक ब्रिज निर्मित होगा। उसे भी आज पूरा कर रहा हू। यहां 22 करोड़ रुपये की लागत से ब्रिज का निर्माण होगा। आज वर्षों से लंबित रिंग रोड फेज 7 का निर्माण कार्य 452 करोड़ की लागत से पूर्ण हुआ। 290 करोड़ की शहरी जलापूर्ति योजना (अमृत योजना) और 656 एकड़ भूमि पर 513 करोड़ की लागत से एचईसी में स्मार्ट सिटी आधारभूत संरचना निर्माण कार्य का शिलान्यास हो रहा है। यह एक स्थिर सरकार के कारण संभव हो सका है। मुख्यमंत्री दास शुक्रवार को रांची रिंग रोड संख्या 7 के उद्घाटन और रांची पेयजल आपूर्ति योजना एवं स्मार्ट सिटी आधारभूत संरचना से संबंधित योजनाओं के शिलान्यास कार्यक्रम में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि राज्य गठन के बाद झारखण्ड की जनसंख्या में वृद्धि दर्ज की गई। इस बढ़ती जनसंख्या को सुविधाएं प्रदान करने के लिए सड़क निर्माण, सड़कों का उन्नयन कार्य, पेयजलापूर्ति की सुनिश्चितता, बिजली उपलब्ध कराना सरकार का लक्ष्य है। इस निमित 4 वर्ष में विकास के कार्य लोगों तक पहुंचे हैं। रांची रिंग रोड फेज 1 और 2 का निर्माण कार्य अप्रैल तक धरातल पर नजर आएगा और बचे हुए 25.3 किमी को रिंग रोड से जोड़ दिया जाएगा। यह कार्य एनएचआई के जिम्मे है। इस कार्य में कुछ कठिनाई थी जिसे केंद्र सरकार से समन्वय स्थापित कर दूर कर दिया गया है। यह कार्य पूर्ण होने से यातायात को बहुत लाभ होगा। मुख्यमंत्री दास ने कहा कि झारखंड में गरीबों को पक्का मकान और उनके लिए शौचालय का निर्माण कराया जा रहा है। झारखण्ड बनने से लेकर 14 वर्ष तक झारखण्ड केवल 18% खुले में शौच से मुक्त था। आज महज 4 वर्ष के कार्यकाल में सरकार ने 99% झारखण्ड को खुले में शौच से मुक्त कर दिया है। उन्होंने कहा कि करीब 5 लाख आवास का निर्माण प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत हुए हैं। 3 लाख से ज्यादा आवास निर्माण करने की योजना पर कार्य हो रहा है। 2022 तक 5 लाख और आवास गरीबों के लिए बनाने का कार्य सरकार करेगी। राज्य के गरीब परिवारों मुफ्त गैस सिलेंडर प्रदान किये गये। इस कार्य में किसी तरह का भेदभाव नहीं बरता गया। सभी वर्ग के लोगों को इन योजनाओं का लाभ मिला है। मुख्यमंत्री ने कहा कि शहरों की तरह गांव को भी रोशन किया जाएगा। गांव में भी मूलभूत सुविधा उपलब्ध होगी। इसके लिए केंद सरकार 14वें वित्त आयोग के तहत 600 करोड़ की राशि राज्य के 4 हजार से ज्यादा मुखियागण के बैंक एकाउंट में जमा किया है। मार्च में फिर 600 करोड़ की राशि आएगी। इस तरह एक पंचायत को 26 लाख रुपये गांव के विकास के लिए मिलेगा। इस राशि से गांव में स्ट्रीट लाइट, पेवर ब्लॉक की सड़क बरसात से पूर्व बना दी जाएगी। मुख्यमंत्री ने बताया कि 500 करोड़ की लागत से आदिवासी, दलित गांव में पेयजलापूर्ति योजना को अमलीजामा पहनाया जाएगा। डीप बोरिंग के माध्यम से गरीबों को उनके घर मे शुद्ध पेयजल उपलब्ध होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखंड में जल्द 24 घंटे बिजली की सुविधा उपलब्ध होगी। 81 ग्रिड और 257 सब स्टेशन का कार्य हो रहा है। दिसंबर 2019 तक 24 घंटे बिजली उपलब्ध हो। इस लक्ष्य को लेकर सरकार कार्य कर रही है। लोगों का जीवन स्तर ऊंचा हो इसके लिए सरकार कटिबद्ध है। मुख्यमंत्री ने बताया कि 14 वर्ष का आकलन 4 वर्ष से करें। 4 वर्ष में जो काम हुए हैं वह 14 वर्ष में नहीं हो पाए। अब सरकार का लक्ष्य है कि यहां के विकास की चर्चा विश्व के विकसित राज्य की श्रेणी में हो, क्योंकि हमारे पास भू संपदा, मानव संपदा और खनिज संपदा है। बस इस राज्य को बदलने में राज्य की जनता को अपनी सोच बदलनी होगी। बदलते समय के अनुरूप हम भी बदलें तो झारखंड भी बदलेगा। मुख्यमंत्री दास ने कहा कि सड़क पर वाहन चलाते समय राज्य के लोगों को अनुशासन और कानून का पालन करना चाहिए। इंसान की थोड़ी सी लापरवाही उसे भारी क्षति पहुंचा सकती है। प्रतिस्पर्धा वाहनों की स्पीड को दिखाने में नहीं, बल्कि अपने जीवन स्तर को ऊंचा उठाने में करनी चाहिए। राजनीतिक दल के लोग, युवा, अधिकारी या आम लोग यातायात नियमों का पालन करें। सीट बेल्ट लगाएं। हेलमेट लगाकर बाइक चलाएं। अगर आपको यातायात पुलिस रोकती है तो उसे अपनी गरिमा का विषय न बनाएं, क्योंकि वह अपने कर्तव्य का पालन कर रही है। चीजें बदलते-बदलते ही बदलती हैं। इसलिए वक्त के साथ खुद को ही बदलें और राज्य के विकास को गति देने में सहायक बनें। इस अवसर पर नगर विकास मंत्री सीपी सिंह, मेयर आशा लकड़ा, सचिव नगर विकास विभाग अजय कुमार सिंह, सचिव पथ निर्माण विभाग केके सोन, अभियन्ता प्रमुख रासबिहारी सिंह व अन्य उपस्थित थे।
अपने सोच को स्मार्ट बनाएं, झारखण्ड भी स्मार्ट बन रहा हैः सीपी सिंह
नगर विकास मंत्री सीपी सिंह ने कहा कि आज सड़क, पेयजलापूर्ति योजना और स्मार्ट सिटी आधारभूत संरचना का शिलान्यास हो रहा है। यह सिर्फ रांची में ही नहीं पूरे झारखण्ड में इस तरह का कार्य हो रहे हैं। सरकार हर तरह की मूलभूत सुविधाओं को उपलब्ध कराने का प्रयास ही रहा है। 2014 को सरकार बनते ही संकल्प लिया था कि झारखण्ड की जनता की सेवा करने का अवसर मिला है यह सेवा निरंतर चलेगा। सड़क स्मार्ट हो गयी है। यह कल्पना से परे है। हमें भी अब स्मार्ट होने की जरूरत है। ताकि हम कह सकें झारखण्ड के साथ ही यहां रहने वाले भी स्मार्ट हैं। सड़कें अच्छी बन रहीं हैं तो दो पहिया वाहन वाले हेलमेट और कार चालक सीट बेल्ट लगा कर चलें। अपनी सोंच को स्मार्ट बनाएं, झारखण्ड स्मार्ट बन रहा है।
आज हम खुली आंख से सपना देखते हैं और उसे धरातल पर उतारते हैंः आशा लकड़ा
मेयर आशा लकड़ा ने कहा कि देश और राज्य बदल रहा है। राज्य की जनता के लिए सरकार योजनाओं को धरातल पर उतारने का कार्य हो रही है। आज गांव विकसित हो रहे हैं। हजारों की संख्या में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवास बने हैं। आज रांची में पेयजलापूर्ति के लिए परेशानी को कम किया गया। आज प्रत्येक वार्ड में एक टैंकर के माध्यम से जलापूर्ति की जा रही है। 53 वार्ड में एक-एक जलमीनार बनाने की योजना है। आज फेज 1 का शिलान्यास हुआ है।
मुख्यमंत्री रघुवर दास के प्रयास से रिंग रोड की सौगात मिलीः डॉ. जीतूचरण राम
कांके विधायक डॉ. जीतूचरण राम ने कहा कि मुख्यमंत्री रघुवर दास के अथक प्रयास से रिंग रोड की सौगात मिली है। आज पेयजलापूर्ति योजना, स्मार्ट सिटी का शिलान्यास कर उस सपने को धरातल पर उतारा जा रहा है। रांची के लाखों लोगों को पाइपलाइन के माध्यम से जलापूर्ति होगी। हम सभी संकल्प ले सरकार की विकास योजनाओं का संरक्षण और संवर्धन करना भी जरूरी है।
मुख्यमंत्री के ठोस इरादों के कारण यह संभव हुआः नवीन जायसवाल
हटिया विधायक नवीन जायसवाल ने कहा कि रिंग रोड का शिलान्यास मुख्यमंत्री रघुवर दास ने दो वर्ष पूर्व किया था आज उसका उद्घाटन हो रहा। मुख्यमंत्री के ठोस इरादों के कारण यह संभव हुआ है। हर ओर सडकें चौड़ी हो रही हैं। हटिया क्षेत्र में कई विकास के कार्य हो रहे हैं। जलापूर्ति योजना का 70% कार्य हटिया विधानसभा क्षेत्र में होगा। अन्य पंचायत में भी जल्द जल मीनार बनाकर जलापूर्ति सुनिश्चित किया जाएगा। हर पंचायत में 200 स्ट्रीट लाइट लगाने व डीप बोरिंग के माध्यम से जलापूर्ति होगी।
141 कनीय अभियंताओं को नियुक्ति पत्र सौंपा तथा प्रधानमंत्री आवास के लाभुकों को घर की चाबी और घर निर्माण के लिए राशि का वितरण
मुख्यमंत्री रघुवर दास ने नगर विकास विभाग विभाग में संविदा के आधार पर 141 कनीय अभियंता को नियुक्ति पत्र सौंपा। उन्होंने सांकेतिक तौर पर रोशन कुमार, अनुज कुमार, रवीना होरो, जलालुद्दीन अंसारी को नियुक्ति पत्र सौंपा। मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के तहत ममता देवी, सरस्वती तिर्की, अगनु तिर्की को घर की चाबी व चेक 67 हजार 500 का चेक रूपानी उरवां, विजय वर्मा, चरिया देवी को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत चेक प्रदान किया।
इन योजनाओं का हुआ उद्घाटन
पथ निर्माण विभाग की काठीटांड़ से विकास विद्यालय तक रिंग रोड फेज 7 का उद्घाटन हुआ इसकी कुल लागत 452 करोड़ आयेगी। सोनाहातू से मिलन चौक तक सड़क निर्माण उन्नयन कार्य का लोकार्पण 40.2 करोड़ की लागत से हुआ।
इन योजनाओं का हुआ शिलान्यास
अमृत योजना के तहत 290 करोड़ की लागत से रांची शहरी जलापूर्ति योजना, 513 करोड़ की लागत से 656 एकड़ में स्मार्ट सिटी आधामभूत योजना, 252 करोड़ की लागत से 220/33 के वी गैस इंसुलेटेड सब स्टेशन निर्माण कार्य का शिलान्यास हुआ। रांची शहरी जलापूर्ति योजना के तहत 14 जलमीनार का निर्माण होगा, 898 किमी पाइपलाइन बिछाई जाएगी, 1 लाख 6 हजार 935 घरों में पेयजलापूर्ति निःशुल्क प्राप्त होगा।

This post has already been read 15350 times!

Sharing this

Related posts