हमास के हमले में 300 इजरायली मारे गए, जवाबी कार्रवाई में 232 फिलिस्तीनी मारे गए

इस्लामी प्रतिरोध आंदोलन. इजराइल पर हमास के अचानक हुए हमले में मरने वाले इजराइली नागरिकों की संख्या 300 तक पहुंच गई है. इजरायली स्वास्थ्य मंत्रालय ने इसकी पुष्टि की है. अल-अक्सा तूफ़ान नामक इस ऑपरेशन में ज़मीन, समुद्र और हवाई क्षेत्रों में 1,500 लोग घायल हुए हैं, जिनमें से 290 की हालत गंभीर है।

अल-अरबिया.नेट के अनुसार, गाजा में फिलिस्तीनी स्वास्थ्य मंत्रालय ने एक घोषणा में कहा है कि “अल-अक्सा तूफान के जवाब में, इज़राइल ने आखिरी रिपोर्ट तक ‘आयरन स्वोर्ड’ नामक ऑपरेशन के माध्यम से 232 फिलिस्तीनियों को मार डाला।” वहीं गाजा पर इजरायली की क्रूर बमबारी में कम से कम 1700 नागरिकों के घायल होने की खबर है.

फ़िलिस्तीनी रेड क्रिसेंट ने बताया है कि पश्चिमी जॉर्डन और अल-कुद्स में 92 लोग घायल हुए हैं। घायलों में 30 लोगों को सीधी गोलियां लगीं.

इसराइली सेना के मुताबिक ज़ायोनी राज्य के अंदर 22 जगहों पर लड़ाई चल रही है. इसके अलावा, फिलिस्तीनी प्रतिरोध ने इज़राइल में यहूदी बस्तियों के अंदर कई बंधकों को रखा है, जिनकी स्थिति “खतरनाक” बताई जा रही है।

इजरायली सेना के मुताबिक, शनिवार सुबह से फिलिस्तीनियों ने अल-अक्सा तूफान में विभिन्न इजरायली ठिकानों पर 3,500 रॉकेट और मिसाइलें दागी हैं। इजराइल अपनी उत्तरी सीमा पर किसी भी तरह के तनाव का मुकाबला करने के लिए तैयार है।

इसराइल का कहना है कि वह ‘युद्ध’ का सामना कर रहा है. तेल अवीव ने धमकी दी कि हमास को हमले के लिए “असाधारण कीमत” चुकानी पड़ेगी। इजरायल ने गाजा पर अंधाधुंध बमबारी करके हमास की कार्रवाई का जवाब दिया है, जो मई के बाद से इजरायल और गाजा के बीच सबसे खराब तनाव है। यह अंतिम लड़ाई है।

This post has already been read 2625 times!

Sharing this

Related posts